इटावा लायन सफारी में बढ़ा शेरों का कुनबा, शेरनी जेसिका चौथी बार बनी मां

इटावा लायन सफारी में बढ़ा शेरों का कुनबा

Etawah Lion Safari: लायन सफारी में शेरनी जेसिका ने एक साथ दो शावकों को जन्म दिया है. दोनों शावक रात 12 बजकर आठ मिनट और एक बजकर 13 मिनट पर पैदा हुए है. इस बात की तस्दीक नहीं की जा सकी है कि ये शावक नर हैं या मादा.

  • Share this:
    इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा लायन सफारी (Etawah Lion Safari) में शेरनी जेसिका (Lioness Jessica) ने चैथी बार फिर से दो शावकों को जन्म दिया है. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भी शावकों की पैदाइश पर खुशी जताई है. सफारी के उपनिदेशक सुरेश चंद्र राजपूत ने न्यूज 18 से एक्सक्लूसिव वार्ता में बताया कि लायन सफारी में शेरनी जेसिका ने एक साथ दो शावकों को जन्म दिया है. दोनों शावक रात 12 बजकर आठ मिनट और एक बजकर 13 मिनट पर पैदा हुए है.  इस बात की तस्दीक नही की जा सकी है कि ये शावक नर हैं या मादा.

    उन्होंने बताया कि चौथी बार मां बनी जेसिका सफारी की आन, बान और शान है. जेसिका सफारी की असल खेवनहार बन गई है. जेसिका के लिए कुछ यादगार करने का इंतजाम सफारी प्रबंधन करने जा रहा है. चाहे कोई रोड हो, या फिर कोई स्मारक या फिर कुछ ऐसा यादगार जिससे हमेशा उसे जीवित रखा जा सके.



    जेसिका का विशेष ध्यान रखा गया

    उन्होंने बताया कि शावकों की पैदाइश पर सीसीटीवी कैमरे के जरिये इटावा सफारी पार्क के विशेषज्ञ डॉक्टरों की नजर थी. गर्भावस्था में शेरनी जेसिका का सफारी में खास ख्याल रखा जा रहा था. सफारी पार्क में शेरनी के रहने की जगह के आसपास किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी गई थी. इसके साथ ही सफारी में अब नौ शावक हो गए हैं. इनमें आठ शावक जेसिका के और एक जेनिफर का है. सफारी में शावक, शेर और शेरनी मिलाकर कुल संख्या 21 हो गई है.

    सिंबा, सुल्तान और बाहुबली को भी दिया था जन्म

    इससे पहले जेसिका ने एक साथ चार शावकों को जन्म देकर खुशी का माहौल बनाया था. उसने 6 अक्टूबर 2016 को सिंबा व सुल्तान को जन्म दिया था. 15 जनवरी 2018 को बाहुबली को जन्म दिया था. चौथी बार शेरनी जेसिका के मां बनने से सफारी पार्क में खुशी की लहर दौड़ गई है. उन्होंने बताया कि डॉ. गौरव श्रीवास्तव व उनकी टीम ने शेरों की देखरेख और उनका कुनबा बढ़ाने के लिए काफी परिश्रम किया है.

    इससे पहले जुलाई और अगस्त 2015 में शेरनी हीर व ग्रीष्मा ने पांच शावकों को जन्म दिया था.  इनमें से दो की मौत तो जन्म के साथ ही हो गई, जबकि कुछ दिनों बाद शेष तीन शावकों की भी मौत हो गई थी. हीर और ग्रीष्मा के शावकों की मौत के बाद लायन सफारी के ब्रीडिंग सेंटर पर सवाल उठने लगे थे.

    (रिपोर्ट: दिनेश शाक्य)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.