इटावा: 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल की कैद, 30000 रुपए जुर्माना

पॉक्सो कोर्ट ने बुलंदशहर की आरुषि के साथ गैंगरेप और हत्याकांड में 3 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है.  (फाइल फोटो)

पॉक्सो कोर्ट ने बुलंदशहर की आरुषि के साथ गैंगरेप और हत्याकांड में 3 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है. (फाइल फोटो)

Decision On Rape Case: इटावा में 2018 में एक मासूम के साथ दरिंदगी करने वाले शख्स को पॉक्सो कोर्ट (POCSO COURT) ने 20 साल की सजा सुनाई है. कोर्ट ने उस पर 30 हजार रुपए का जुर्माना भी ठोंका है, जो पीड़िता को दिया जाएगा.

  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा की अदालत ने 8 साल की एक मासूम बच्ची से दुष्कर्म करने वाले शख्स को 20 साल की सजा सुनाई है. इसके साथ ही 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. सजा सुनाए जाने के बाद आरोपी को पुलिस अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया. अभियोजन पक्ष के अनुसार यह सजा अपर सत्र न्यायाधीश (पॉक्सो) ने पक्ष और विपक्ष की बहस सुनने के बाद सुनाई है.

शासकीय अधिवक्ता अजीत प्रताप सिंह व विशेष लोक अभियोजक आशीष कुमार तिवारी ने संयुक्त रूप से बताया कि जसवंतनगर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी मजदूर की आठ साल की बेटी 12 अगस्त 2018 को घर में अकेली थी. दोपहर करीब दो बजे पड़ोस का रहने वाला गगन बच्ची को बहला-फुसलाकर एक कमरे में ले गया, जहां बच्ची से दुष्कर्म किया. उसकी हालत बिगड़ने व बेहोश होने पर वह मौके से भाग निकला था. इसी दौरान बच्ची की भाभी व भतीजी कमरे में पहुंची, तो उसे खून से लथपथ बेहोशी की हालत पाया था. बाद में परिजनों को घटना की जानकारी मिली.

2018 में हुई थी एफआईआर

मजदूर ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया, साथ ही आरोपी गगन के खिलाफ 13 अगस्त को दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा था. तब से आरोपी जेल में निरुद्ध है. बचाव व पीड़ित पक्ष के अधिवक्ताओं का पक्ष सुनने के बाद अपर सत्र न्यायाधीश (पास्को) काशी प्रसाद सिंह यादव ने साक्ष्यों व बयानों के आधार पर जसवंतनगर के सिसहाट गांव निवासी गगन सिंह को 20 साल कैद की सजा सुनाई.
सजा से बढ़ेगा पुलिस का मनोबल: एसएसपी

साथ ही कोर्ट ने दोषी पर 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया. जुर्माना की राशि पीड़िता को दी जाएगी. इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर (SSP Akash Tomar) का कहना है कि पुलिस की मजबूत पैरोकारी के नतीजे मे अदालती स्तर पर आरोपियों को हो रही सजा से पुलिस का मनोबल बढ़ा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज