इटावा: जेल से छूटने के बाद हूटर रैली निकालने वाले फरार सपा नेता धर्मेद्र यादव पर 25000 का इनाम घोषित

Etawah News: गैंगस्टर सपा नेता धर्मेंद्र यादव पर इनाम घोषित

Etawah News: गैंगस्टर सपा नेता धर्मेंद्र यादव पर इनाम घोषित

धर्मेंद्र यादव के आत्मसमर्पण करने की खबर भी चली थी. इसके बाद अदालत परिसर में हाई अलर्ट बना रहा, लेकिन वह आत्मसमर्पण करने के लिए नहीं आए.

  • Share this:

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिला जेल से रिहाई के बाद हूटर रैली निकालने वाले गैंगस्टर और सपा नेता धर्मेंद्र यादव (Gangster Dharmendra Yadav) पर 25000 का इनाम घोषित किया गया है. इटावा के एसएसपी डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह ने सोमवार को इनाम की घोषणा करते हुए बताया कि फरार गैंगस्टर सपा नेता धर्मेन्द्र यादव की गिरफ्तारी के लिए सूचना देने वाले को 25000 रुपये का इनाम दिया जाएगा. इससे पहले सोमवार को दिन भर घर्मेद्र यादव के आत्मसमर्पण करने की खबर मीडिया में चलती रही. इसे देखते हुए अदालत परिसर में हाई अलर्ट बना रहा, लेकिन धर्मेंद्र यादव सरेंडर करने नहीं आए.

बता दें कि 4 जून को गैंगस्टर अधिनियम के तहत आरोपी धर्मेन्द्र यादव इटावा कारागार से जमानत पर रिहा होने के बाद 5 मई को कानपुर हाईवे पर भारी संख्या में वाहनों के साथ निकले. जुलूस को लेकर सिविल लाइन थाने में धारा 188, 269, 270, 51/57, 3 महामारी अधिनियम और 7 सीएलए एक्ट के तहत अभियोग दर्ज किया गया है. एसएसपी ने बताया कि धर्मेन्द्र यादव की ओर से प्रयुक्त गाड़ी सहित अन्य 24 गाड़ियों को जब्त कर कुल 34 आरोपी गिरफ्तार किये गए हैं. इससे पहले सीओ इटावा को पदमुक्त कर दिया गया तो 7 पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया. यह कार्रवाई एसपी सिटी प्रशांत कुमार के रिपोर्ट के आधार पर की गई.

7 पुलिस वाले सस्पेंड

एसएसपी ने गैंगस्टर सपा नेता धर्मेंद्र यादव की हूटर रैली के बाद सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक ओम प्रकाश पांडे, स्थानीय अभिसूचना इकाई के प्रभारी निरीक्षक पुनीत कुमार शर्मा, जेल चौकी प्रभारी भानु प्रताप सिंह, बकेवर थाने की महेवा चौकी प्रभारी विष्णु कांत तिवारी, यातायात पुलिस के हेड कांस्टेबल योगेश कुमार, कान्स्टेबल अजय कुमार ओर कान्‍स्टेबल बृजपाल सिंह ट्रैफिक पुलिस को एसपी सिटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.
धर्मेंद्र यादव इटावा के पड़ोसी जिले औरैया में समाजवादी युवजन सभा अध्यक्ष हैं, लेकिन पंचायत चुनाव में उनको भाग्य नगर से जिला पंचायत सदस्य के तौर पर चुनाव मैदान में उतारा गया, जहां करीब 13000 वोटों से उनकी जीत हो गई, लेकिन इससे पहले धर्मेंद्र यादव अपराधिक मामले में गिरफ्तार करके जेल भेज दिए गए थे. धर्मेंद्र यादव के खिलाफ औरैया के जिला प्रशासन ने जिला बदर की भी कार्रवाई कर रखी है. इसके साथ ही धर्मेंद्र यादव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की भी कार्रवाई हुई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज