इटावा: कोर्ट में सरेंडर करने जा रहे 25000 के इनामी सपा नेता धर्मेंद्र यादव को पुलिस ने दबोचा

पुलिस के हत्थे चढ़ा 25 हजार इनामी धर्मेंद्र यादव

UP News: एसएसपी ने बताया कि धर्मेंद्र यादव 4 जून को देर शाम इटावा की जिला जेल से रिहा हुआ था. 5 जून को सुबह जेल के बाहर से उसने अपने समर्थकों के साथ एक जश्न जुलूस निकाला, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सिविल लाइन थाने में तमाम गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया.

  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) जिले में अदालत में आत्मसमर्पण करने के लिए जा रहे 25000 के इनामी सपा नेता धर्मेंद्र यादव (Dharmendra Yadav)को गिरफ्तार कर लिया गया है. इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक का डॉ बृजेश कुमार सिंह ने धर्मेंद्र यादव की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए सोमवार को बताया कि धर्मेंद्र यादव को आज उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब वह गेट नंबर 3 से अदालत में समर्पण करने के लिए जा रहा था. उन्होंने बताया कि धर्मेंद्र के आत्मसमर्पण करने की सूचनाएं कई दफा मिली, लेकिन आज पुष्ट और पुख्ता सूचना के बाद धर्मेंद्र यादव की गिरफ्तारी सिविल लाइन पुलिस और अपराध शाखा ने संयुक्त रूप से चेकिंग के दौरान की.

एसएसपी ने बताया कि धर्मेंद्र यादव 4 जून को देर शाम इटावा की जिला जेल से रिहा हुआ था. 5 जून को सुबह जेल के बाहर से उसने अपने समर्थकों के साथ एक जश्न जुलूस निकाला, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद धर्मेंद्र यादव और उसके 200 समर्थकों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में तमाम गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया.

धर्मेंद्र की तलाश में पुलिस की टीमें लगातार छापेमारी कर रही थी. इसी बीच में धर्मेंद्र के काफिले में शामिल 39 लोगो को पकड़ा जा चुका था.  इसके अलावा 29 गाड़ियों को जब्त किया गया, लेकिन धर्मेंद्र का कहीं कोई सुराग नहीं लग रहा था. आज मुखबिर के जरिए इस बात की सूचना मिली की धर्मेंद्र यादव अदालत में समर्पण करने के लिए पहुंचने वाला है. पुलिस ने सघन चेकिंग के बाद उसकी गिरफ्तारी कर ली.

कई पुलिस वालों पर गिरी थी गाज
फिलहाल धर्मेंद्र यादव को सिविल लाइन थाने ले जाया गया है जहां पर उससे विभिन्न स्तर पर पूछताछ की जा रही है. इससे पहले समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव की हूटर रैली निकालने को लेकर बडी कार्यवाई करते हुए सीओ इटावा को पदमुक्त कर 7 पुलिस जनो को निलंबित किया गया था. एसएसपी ने गैंगस्टर सपा नेता धर्मेंद्र यादव की हूटर  रैली के बाद सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक ओम प्रकाश पांडे, स्थानीय अभिसूचना इकाई के प्रभारी निरीक्षक पुनीत कुमार शर्मा, जेल चौकी  प्रभारी भानु प्रताप सिंह, बकेवर थाने की महेवा चौकी प्रभारी विष्णु कांत तिवारी, यातायात पुलिस के हेड कांस्टेबल योगेश कुमार ,कान्स्टेबल अजय कुमार ओर कांस्टेबल बृजपाल सिंह ट्रैफिक पुलिस को एसपी सिटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर तत्काल प्रभाव से निलंबित किया था.

इन धाराओं में दर्ज हुआ था मुकदमा
धर्मेंद्र यादव को हूटर रैली निकालने पर धर्मेद्र यादव समेत उनके दो सौ समर्थको के खिलाफ सिविल लाइन थाने मे धारा 188, 269,270 सेवेन सीएलए एक्ट और महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. 5 जून को घर्मेंद्र यादव के स्वागत सत्कार से जुड़े हुए वीडियो वायरल होने के बाद इटावा से लेकर लखनऊ तक हडंकप मच गया. इटावा से लेकर औरैया सीमा तक के सीसीटीवी कैमरों के वीडियो फुटेज तलाशने में पुलिस की कई टीमें जांच में जुटी रही.

जीता है जिला पंचायत सदस्य का चुनाव
जेल से रिहा होने के बाद धर्मेंद्र यादव को उनके समर्थकों ने बाकायदा चांदी का मुकुट और गले में माला डाल करके उनका स्वागत सत्कार भी किया था. धर्मेंद्र यादव इटावा के पड़ोसी औरैया जिले में समाजवादी युवजन सभा अध्यक्ष है लेकिन पंचायत चुनाव में उनको भाग्य नगर से जिला पंचायत सदस्य के तौर पर चुनाव मैदान में उतारा गया जहां करीब 13000 वोटों से उनकी जीत हो गई लेकिन इससे पहले धर्मेंद्र यादव अपराधिक मामले में गिरफ्तार करके जेल भेज दिए गए थे. धर्मेंद्र यादव के खिलाफ औरैया के जिला प्रशासन ने जिला बदर की भी कार्रवाई करके रखी हुई है, इसके साथ ही धर्मेंद्र यादव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की भी कार्रवाई हुई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.