अपना शहर चुनें

States

इटावा : स्पेन के बार्सिलोना में चार शेरों के कोरोना संक्रमित होने पर लायन सफारी में विशेष एहतियात

स्पेन के बार्सिलोना में चार शेर कोरोना संक्रमित पाए गए. इसके बाद इटावा की लायन सफारी में विशेष ध्यान दिया जा रहा है. (फाइल फोटो)
स्पेन के बार्सिलोना में चार शेर कोरोना संक्रमित पाए गए. इसके बाद इटावा की लायन सफारी में विशेष ध्यान दिया जा रहा है. (फाइल फोटो)

सुरेश चंद्र राजपूत ने बताया कि भारत मे अभी तक वन्यजीवों खासकर शेर शेरनियों और शावकों में कोराना का कोई भी मामला सामने नहीं आया है. फिर सीजेडए की ओर से मिले दिशा-निर्देशों का पालन पूरी तरह से पालन किया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2020, 7:16 PM IST
  • Share this:
इटावा. स्पेन के बार्सिलोना चिड़ियाघर के चार शेरों के कोरोना की चपेट में आने से उत्तर प्रदेश के इटावा स्थित लायन सफारी में विशेष एहतियात बरतना शुरू कर दिया गया है. सफारी के उपनिदेशक सुरेश चंद्र राजपूत ने न्यूज 18 को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि भारत मे अभी तक वन्यजीवों खासकर शेर शेरनियों और शावकों में कोराना का कोई भी मामला सामने नहीं आया है. फिर केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) की ओर से मिले दिशा-निर्देशों का पालन पूरी तरह से पालन किया जा रहा है.

केंद्रीय चिड़याघर प्राधिकरण ने जारी की गाइडलाइन

सीजेडए की तरफ से जारी गाइडलाइन के अनुसार, सफारी में शेर और अन्य वन्य जीवों की निगरानी के साथ-साथ उनके लिए क्वॉरंटाइन सेंटर बना दिए गए हैं. स्पेन के बार्सिलोना चिड़ियाघर के चार शेरों की कोरोना जांच रिपोर्ट 8 दिसंबर को पॉजिटिव आई थी. इसकी जानकारी होने के बाद 10 दिसंबर को केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने सफारी समेत सभी चिड़ियाघर प्रशासन के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की. इसके बाद जानवरों के बचाव और रखरखाव के लिए गाइडलाइन जारी की. राजपूत ने बताया कि जानवरों की देखभाल करने वाली टीम को गाइडलाइन में बताए गए सभी मानकों का पालन करने का निर्देश दिया गया है. इस साल सफारी खुलने की योजना थी, लेकिन कोरोना संकट खड़ा हो गया. नवंबर में सफारी खुलने की प्रक्रिया शुरू हुई तो केंद्रीय प्राधिकरण और स्वास्थ्य विभाग से अनुमति नहीं मिली.



ऐसे की जा रही सुरक्षा
उप निदेशक ने बताया कि जानवरों खासकर शेरों की देखभाल करने वाले कर्मचारियों को डांगरी, ग्लब्स, गमबूट और मास्क मुहैया करवाए गए हैं. बाड़े में जाने से पहले और बाहर जाने के बाद इन कपड़ों को सैनिटाइज करवाया जा रहा है. देखरेख करने वाले कर्मचारियों को दूसरे लोगों के संपर्क में नहीं आने दिया जा रहा है.
राजपूत ने बताया कि जानवरों के शरीर का तापमान पता करने के लिए सुबह-शाम उनकी थर्मल स्क्रीनिंग करवाई जा रही है. जुकाम, बुखार या खांसी के लक्षण वाले जानवरों के नमूने कोरोना जांच के लिए भेजे जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि सभी जानवरों के लिए पर्याप्त आइसोलेशन सेंटर बनाए गए हैं. डॉक्टरों की टीम लगातार इनकी निगरानी कर रही है.
बीहड़ क्षेत्र से जुड़े इटावा सफारी का वातावरण शेरों के लिए काफी मुफीद साबित हो रहा है. अच्छी देखभाल और अनुकूल वातावरण की वजह से इनके कुनबे में लगातार वृद्धि हो रही है. तीन साल में दो शावक सिंबा और सुल्तान पैदा हुए थे. सफारी में अबतक कुल 20 शेर हैं, जिसमें नौ नर और नौ मादा हैं. इसमें नौ शेर इटावा सफारी में ही जन्मे हैं. दो शावकों के पैदा होने के बाद कुल 20 शेर हो गए हैं. कोरोना से शावकों को बचाने के लिए खास चिकित्सा इंतजाम किए गए हैं .
स्पेन के बार्सिलोना में 4 शेरों के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने देशभर के चिड़ियाघरों, वाइल्डलाइफ अस्पतालों को एडवाइजरी जारी की है. इसको लेकर के इटावा सफारी प्रशासन ने शेरों की निगरानी बढ़ा दी है. यहां आमजन ही नहीं अति विशिष्ट लोगों के भी शेरों के दीदार पर प्रतिबंध रहेगा.
राजपूत बताते हैं कि स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत पर सफारी प्रशासन को रिपोर्ट करेंगे. मलमूत्र का डिस्पोजल वैज्ञानिक ढंग से कराया जाएगा. मीट खाने के बाद जो अब शेष बचे उसका डिस्पोजल सुरक्षित ढंग से कराया जाएगा ताकि दूसरे जानवरों को खतरा ना रहे. पशु चिकित्सक शेरों की सुरक्षा के लिए बायोसेफ्टी प्लान बना करके रिपोर्ट सफारी प्रशासन को देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज