लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर डिवाइडर से टकराई कार, लेफ्टिनेंट की दर्दनाक मौत

इटावा निवासी लेफ्टिनेंट राहुल यादव दो दिन के अवकाश पर परिवार के साथ अपने घर आए थे. मौत की वजह कार का लॉक न खुल पाना बताया जा रहा है.

Sandeep Mishra | News18 Uttar Pradesh
Updated: June 25, 2018, 6:25 PM IST
लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर डिवाइडर से टकराई कार, लेफ्टिनेंट की दर्दनाक मौत
लेफ्टिनेंट राहुल यादव की फोटो
Sandeep Mishra | News18 Uttar Pradesh
Updated: June 25, 2018, 6:25 PM IST
उत्तर प्रदेश के इटावा के चौबिया इलाके में सोमवार तड़के सुबह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर एक कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई. घटना के बाद कार में भीषण आग लग गई. इस हादसे में सेना के लेफ्टिनेंट की कार में जलकर मौत हो गई. इटावा निवासी लेफ्टिनेंट राहुल यादव दो दिन के अवकाश पर परिवार के साथ अपने घर आए थे. मौत की वजह कार का लॉक न खुल पाना बताया जा रहा है.

मिली जानकारी के मुताबिक, राहुल यादव अपने परिवार के साथ फर्रुखाबाद से एक भागवत समारोह से वापस आ रहे थे. तभी उनकी कार डिवाइडर से टकरा गई. जिससे उसमें आग लग गई. गाड़ी में उनके साथ राहुल की मां मनोजा देवी, रीना देवी पत्नी योगेंद्र कुमार यादव, हर्षित यादव निवासी अशोक नगर इटावा व मीरा देवी मौजूद थी.

सूचना मिलने पर यूपीडा की एंबुलेंस से चारों घायलों को उत्तर प्रदेश ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान, सैफई में भर्ती कराया गया. जहां चारों का इलाज चल रहा है. घायलों में हर्षित यादव की जांघ की हड्डी टूट गई है. ग्रामीणों ने बताया कि नींद का झोका आ जाने के कारण कार डिवाइडर से टकरा गई. जिससे चिंगारी पैदा हो गई और कार में आग लग गई.

राहुल के चहेरे भाई ने बताया कि राहुल की तैनाती सेना में 2016 में जम्मू में सहायक लेफ्टिनेंट के पद पर हुई थी. जहां से उनका ट्रांसफर अरुणाचल प्रदेश में हो गया था. अभी पांच दिन पहले ही राहुल प्रमोशन पाकर लेफ्टिनेंट बने थे और इसी ख़ुशी में इटावा आकर अपने पैतृक गांव फर्रुखाबाद जिले में भागवत का आयोजन करने के बाद अपने परिवार के साथ लौट रहे थे.

ये भी पढे़ं: 2019 के पहले कभी भी शुरू हो सकता है 'राम मंदिर' निर्माण: वेदांती

मुजफ्फरनगर: कबाड़ की दुकान में भीषण विस्फोट, 4 की मौत

योगी सरकार पर हमलों में 'लिपटीं' ओम प्रकाश राजभर की चुनावी तैयारियां

वेदांती बोले- रामलला के लिए मैं फांसी पर भी लटकने को तैयार हूं
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर