Assembly Banner 2021

इटावा: बदमाशों ने प्रॉपर्टी डीलर को घर के बाहर मारी गोली, इलाज के दौरान मौत

इटावा में प्रॉपर्टी डीलर सत्तार सिंह यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई है.

इटावा में प्रॉपर्टी डीलर सत्तार सिंह यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई है.

इटावा (Etawah) जिले के भरथना थाना क्षेत्र अंतर्गत ब्रजराजनगर में एक प्रॉपर्टी डीलर (Property Dealer) की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी गई है. वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे फरार हो गए हैं. इनको पकड़ने के लिए पुलिस (Police) की कई टीमें लगी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 2, 2021, 11:22 PM IST
  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा जिले के भरथना थाना क्षेत्र अंतर्गत ब्रजराजनगर में एक प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी गई है. भरथना में हुई इस हत्या से इलाके में सनसनी फैली गई है. पुलिस की कई टीमें हत्या की वजह और हत्यारों की सरगर्मी से तलाश कर रही हैं.

हत्यारे कौन हैं अभी इस बात का पता नहीं चल पाया है, लेकिन प्रॉपर्टी डीलर के बेटे ने अपने पिता के कई विरोधियों का नाम इस मामले में लिया है. पुलिस प्रारंभिक तौर प्रॉपर्टी विवाद को हत्या की वजह मानकर चल रही है. हत्या के पीछे कई करोड़ की प्रॉपर्टी का विवाद बताया जा रहा है. भरथना मे एक जमीन के विवाद के अलावा इटावा शहर मे 18,000 वर्ग फिट जमीन पर कब्जे को लेकर कई नामी भू माफियाओं से सत्तार सिंह यादव का विवाद चल रहा था. हत्या की वारदात रात 7 बजे के आसपास उस समय हुई जब दो अनजान शख्स प्रॉपर्टी डीलर सत्तार सिंह यादव के घर आए और उसे घर से बुला कर गोलियां मार दी और फरार हो गए.

जौनपुर: तेज रफ्तार ट्रक ने पुलिस वाहन में मारी टक्कर, प्रभारी निरीक्षक समेत चार पुलिसकर्मी घायल



परिवारिक के लोग कुछ समझ पाते इससे पहले हत्या को अंजाम देने वाले लोग मौके से फरार हो गये. प्रॉपर्टी डीलर की देर शाम हुई हत्या से भरथना में सनसनी फैल गई है. पुलिस हत्या की वारदात को लेकर के अलर्ट हो गई है. हत्यारों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है. पारिवार के लोगों ने बताया कि गोली लगने के बाद सत्तार सिंह को घायल अवस्था में इटावा के निजी अस्पताल में कराया गया, लेकिन डाक्टरों ने नाजुक स्थिति बताकर के जिला अस्पताल भेज दिया. जिला अस्पताल पहुंचने के बाद उनकी मौत हो गई.
हत्या की खबर मिलने के बाद इटावा के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ओमवीर सिंह मौके पर पहुंचे और उन्होंने परिजनों से हत्या की वजहों का पता करके हत्यारों तक पहुंचने की कोशिश शुरू कर दी है. मृतक के बेटे ने मामले में कई विरोधियों का नाम लिया है. इनमें कई पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी बताए जा रहे हैं. हत्या के शिकार हुए प्रापर्टी डीलर के बेटे की ओर से पुलिस और प्रशासिनक अधिकारियों पर लगाये जा रहे आरोपों को लेकर पुलिस अफसर फूंक फूंक कर कदम रख रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज