अपना शहर चुनें

States

इटावा जेल से फरार हुए दो कैदी, एक की ट्रेन से कटकर मौत

इटावा जेल (फाइल फोटो)
इटावा जेल (फाइल फोटो)

जेल अधीक्षक राजकिशोर सिंह ने बताया कि जिला कारागार में औरेया जिले के फफूंद निवासी रामानंद और इटावा जिले के इकदिल निवासी चंद्रप्रकाश उर्फ चंदू को बैरक-5 में रखा गया था.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के इटावा में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां जिला कारागार से दो विचाराधीन कैदी फरार हो गए. इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. वहीं, पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं. स्थानीय थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. दोनों फरार कैदियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है.

जानकारी के मुताबिक, मामला शनिवार रात की है. कहा जा रहा है कि भागने के दौरान एक कैदी की ट्रेन से कटकर मौत हो गई, जबकि दूसरे कैदी की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है. वहीं, जेल प्रशासन ने कैदियों के भागने की घटना को बड़ी चूक होना स्वीकार किया है.

आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे दोनों कैदी



स्थानीय थाना पुलिस के अनुसार, दोनों ही कैदी आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे. जेल अधीक्षक राजकिशोर सिंह ने बताया कि जिला कारागार में औरेया जिले के फफूंद निवासी रामानंद और इटावा जिले के इकदिल निवासी चंद्रप्रकाश उर्फ चंदू को बैरक-5 में रखा गया था. शनिवार देर रात दोनों कैदी जेल की दीवार से कूदकर फरार हो गए.
जेल अधीक्षक ने स्वीकार की बड़ी चूक 

राजकिशोर सिंह ने बताया कि कैदियों ने दीवार फांदने के लिए चादर का इस्तेमाल किया था. दोनों ने चादर को पेड़ से बांधकर सिढ़ी बनाई थी. जेलर ने बताया कि रात में डिप्टी जेलर के राउंड पर आने पर घटना की जानकारी हुई. उन्होंने बताया कि जब कैदियों की तलाश करते-करते जब पुलिस रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो वहां कैदी रामानंद मृत पाया गया. उसकी ट्रेन के नीचे आने से मौत होना बताया जा रहा है. वहीं, जेल अधीक्षक ने जेल प्रशासन की बड़ी चूक स्वीकार की है. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच की जा रही है. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें- 

BJP सांसद बोले- मुझे बचाने के लिए सुरक्षाकर्मी ने किया फायर

धोती वाले बुजुर्ग को ट्रेन से उतारा, रेलवे ने नहीं मानी गलती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज