लाइव टीवी

शिवपाल यादव बोले सपा से पहले ही दे चुका इस्तीफा, विधायकी जाएगी तो फिर लडूंगा चुनाव

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 18, 2019, 10:59 AM IST
शिवपाल यादव बोले सपा से पहले ही दे चुका इस्तीफा, विधायकी जाएगी तो फिर लडूंगा चुनाव
शिवपाल यादव ने कहा अगर विधायकी गई तो फिर से लडूंगा चुनाव

शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने कहा कि विधायकी रद्द होने पर सपा से मेरे खिलाफ अगर कोई प्रत्याशी खड़ा हुआ तब भी मैं चुनाव लड़ूंगा.

  • Share this:
इटावा. शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) की विधायकी रद्द करने को लेकर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की तरफ से 4 सितंबर को विधानसभा अध्यक्ष को दी गई याचिका पर चुप्पी तोड़ते हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) (Pragtisheel Samajwadi Party) के अध्यक्ष ने कहा कि वे सपा से पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं. अब उनकी विधायकी पर फैसला विधानसभा अध्यक्ष को करना है. अगर उनकी विधायकी जाती है तो वह फिर से चुनाव लड़ेंगे. बता दें मौजूदा समय में शिवपाल यादव इटावा (Etawah) के जसवंतनगर से सपा विधायक हैं.

18 सितंबर यानी बुधवार को 13 सूत्रीय मुद्दों पर प्रदेश व्यापी धरने से पहले शिवपाल सिंह यादव ने कहा, "समाजवादी पार्टी से मैं पहले ही इस्तीफा दे चुका हूं. आखिरी फैसला विधानसभा अध्यक्ष को करना है. विधायकी जाएगी तो फिर से चुनाव लड़ूंगा. विधानसभा अध्यक्ष जैसा फैसला लेंगे वह मान्य होगा. समाजवादी पार्टी से विधायक के तौर दिए इस्तीफे पर फैसले का इंतज़ार है."

शिवपाल यादव ने कहा कि विधायकी रद्द होने पर सपा से मेरे खिलाफ अगर कोई प्रत्याशी खड़ा हुआ तब भी मैं चुनाव लड़ूंगा. शिवपाल यादव ने ये बयान इटावा में दिया है. शिवपाल यादव इटावा में प्रदेश व केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ 13 मुद्दों को लेकर होने वाले धरना प्रदर्शन में शिरकत करेंगे.

सपा ने दल-बदल कानून के तहत विधायकी रद्द करने की दी है याचिका

बता दें समाजवादी पार्टी की तरफ से नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष दल विरोधी कानून के तहत उनकी सदस्यता रद्द करने के लिए 4 सितंबर को याचिका दी है. सपा की इस याचिका पर आखिरी फैसला विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित को लेना है. शिवपाल यादव ने सपा में अखिलेश यादव से मनमुटाव के बाद अलग पार्टी बना ली है. उन्होंने लोकसभा चुनाव में भी प्रत्याशी खड़े किए. हालांकि पार्टी को कोई जीत नहीं मिली और खुद शिवपाल यादव फिरोजाबाद से हार गए. लेकिन कहा जा रहा है कि समाजवादी पार्टी की हार के पीछे शिवपाल यादव की भूमिका को अहम माना जा रहा है.

(रिपोर्ट: अलाउद्दीन अयूब)

ये भी पढ़ेंः पार्क में लड़कियों को देख करता था 'गंदा काम', अब 11 दिन बाद पुलिस ने पकड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इटावा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 18, 2019, 10:59 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर