लाइव टीवी

शिवपाल यादव बोले-सपा में अब मेरी पार्टी का नहीं होगा विलय, गठबंधन पर विचार संभव

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 4, 2019, 9:51 PM IST
शिवपाल यादव बोले-सपा में अब मेरी पार्टी का नहीं होगा विलय, गठबंधन पर विचार संभव
शिवपाल यादव बोले-सपा में अब मेरी पार्टी का नहीं होगा विलय

शिवपाल ने कहा कि बार-बार उनके सपा में जाने की अफवाह फैलाई जा रही है. सपा में जाने का कोई सवाल ही नहीं है. हालांकि वे अभी सपा के ही विधायक हैं, परंतु सपा मुखिया ने उन्हें बैठकों में नहीं बुलाया.

  • Share this:
इटावा: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) (Pragatisheel Samajwadi Party) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने कहा कि किसी भी कीमत पर उनकी पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय नहीं होगा. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी से गठबंधन पर विचार हो सकता है. शिवपाल ने कहा कि मैंने कई बार समझौते के लिए प्रयास किया, लेकिन समाजवादी पार्टी की ओर से कोई प्रयास नहीं किया गया. शुक्रवार को धार्मिक आयोजन में सम्मिलित होने इटावा पहुंचे शिवपाल यादव ने कहा कि सपा के साथ गठबंधन का विकल्प खुला रहेगा. सांप्रदायिक शक्तियों को धाराशायी करने के लिए सपा और प्रसपा के मध्य मुद्दों के आधार पर चुनावी गठबंधन हो सकता है.

शिवपाल ने कहा कि बार-बार उनके सपा में जाने की अफवाह फैलाई जा रही है. सपा में जाने का कोई सवाल ही नहीं है. हालांकि वे अभी सपा के ही विधायक हैं, परंतु सपा मुखिया ने उन्हें बैठकों में नहीं बुलाया. इससे पहले शिवपाल यादव ने कहा कि वो कभी समाजवादी पार्टी का विघटन नहीं चाहते थे, लेकिन पार्टी के भीतर कुछ षड्यंत्रकारियों के कारण ऐसा हुआ. उन्होंने कहा कि अब हमारी पार्टी बन चुकी है और संघर्ष कर रही है. सदस्यता अभियान लगातार चलाया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि उनका लक्ष्य वर्ष 2022 का विधानसभा चुनाव जीतना है. शिवपाल के मुताबिक, पार्टी साल 2022 में सरकार बनाने के लिए काम कर रही है. उन्होंने यह भी बताया कि पार्टी ने उपचुनाव में कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है.

दो दिन पहले कहा था- अभी गुंजाइश बाकी है

सोमवार को शिवपाल यादव ने अखिलेश यादव का नाम लिए बगैर कहा था कि हमने उन्हें नेता माना, सीएम माना लेकिन कुछ षड्यंत्रकारी (साजिशकर्ता) सफल हो गए, जिसका खामियाजा समाजवादी पार्टी का उठाना पड़ा. शिवपाल यादव ने कहा था कि उनके मन में अभी भी पूरी गुंजाइश बची है. शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि अगर नेताजी के साथ बैठ जाएं तो तीसरे किसी की जरूरत नहीं होगी.

इनपुट- दीपक मिश्रा

ये भी पढ़ें:
Loading...

बुलंदशहर हिंसा: जेल से रिहा हुआ मुख्य आरोपी योगेश राज, भारी पुलिस बल तैनात

कभी मुलायम और मायावती की 'पसंद' रहे भालचंद्र यादव ने झेला था दल-बदल कानून

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इटावा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 9:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...