बड़ी खबर: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलती बस बनी आग का गोला, यात्रियों ने कूदकर बचाई जान

बस हादसा करीब सुबह 10 बजे हुआ.

बस हादसा करीब सुबह 10 बजे हुआ.

इटावा (Etawah) के उसराहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे (Agra Lucknow Expressway) पर बस में आग लगने का मामला सामने आया है. इस बस में करीब 50 यात्री सवार थे और यह बिहार से दिल्‍ली आ रही थी.

  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश में इटावा (Etawah) के उसराहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे (Agra Lucknow Expressway) पर आज एक बड़ा हादसा होने से बच गया. दरअसल बिहार के पूर्णिया से दिल्ली जा रही स्लीपर बस जल कर खाक हो गयी, गनीमत रही इस दौरान कोई जनहानि नहीं हुई. इस दर्दनाक हादसे की सूचना मिलते ही ताखा के उप जिलाधिकारी सत्य प्रकाश मिश्रा, पुलिस उपाधीक्षक और उसराहार थाना प्रभारी अमरपाल सिंह भारी पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे.

बहरहाल, आग लगने की यह घटना आज सुबह करीब 10 बजे हुई. ऐसा बताया जा रहा है कि जैसे ही बस में आग लगने की घटना घटित हुई बस का चालक और परिचालक बस को मौका ए वारदात पर छोड़कर फरार हो गए. बस में सवार यात्रियों ने अपनी जान कूदकर बचाई है. बस में सवार यात्रियों का कहना है कि जैसे ही आग लगने की घटना हुई तो चालक और परिचालक मौका ए वारदात से फरार हो गए. बस में आग लगने की घटना की जानकारी होने के बाद यूपीडा की एक और जिला दमकल विभाग की ओर से दो दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं जिन्होंने आग पर काबू पाया है. हालांकि जब तक दमकल की गाड़ियां मुख्यालय से घटनास्थल पर पहुंचती तब तक बस जलकर खाक हो चुकी थी.

Etawah, Bihar, bus fire,इटावा, बिहार, बस में लगी आग
जैसे ही आग लगने की घटना हुई तो चालक और परिचालक मौका ए वारदात से फरार हो गए. 


बस में सवारे से 50 से अधिक यात्री
बस में सवार यात्रियों की संख्या 50 से लेकर के 70 के आसपास बताई जा रही हैं, जो आग लगने के कारण बस से उतरकर नीचे भाग निकले, लेकिन इस दौरान अधिकांश का सामान बस में ही छूट गया जो जल गया. ताखा के उप जिलाधिकारी सत्य प्रकाश मिश्रा का कहना है कि बस के यात्रियों को दिल्ली भेजने के लिए इंतजाम तो किया ही जा रहा है उनके खाने पीने का भी प्रबंध जिला और पुलिस प्रशासन करने में लगा हुआ है. बस में आग लगने की घटना के बाद कई बस यात्रियों को अपने अपने मोबाइल कैमरे पर आज का वीडियो और फोटो भी उतारते देखा गया है.जिस तरह का यह हादसा पेश आया है उससे यह बात स्पष्ट है कि अगर यही घटना रात के अंधेरे में घटी होती तो निश्चित ही बड़ी जनहानी हो सकती थी, क्योंकि अधिकाधिक यात्री सोते रहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज