Home /News /uttar-pradesh /

चंबल की नई पहचान बना ये सफारी पार्क, विदेशों से भी आते रहे हैं पर्यटक

चंबल की नई पहचान बना ये सफारी पार्क, विदेशों से भी आते रहे हैं पर्यटक

फिलहाल कोरोना संक्रमण की आशंका को देखते हुए इटावा लॉयन सफारी को बंद रखा गया है. (फाइल फोटो)

फिलहाल कोरोना संक्रमण की आशंका को देखते हुए इटावा लॉयन सफारी को बंद रखा गया है. (फाइल फोटो)

डाकुओं के आतंक की वजह से खतरनाक माने जाने चंबल के जंगल में इस सफारी के बनने के बाद से पर्यटकों की खूब भीड़ जुटी थी. डाकुओं का आतंक तो खैर बहुत पहले खत्म किया जा चुका था.

इटावा. पिछले साल आज ही के दिन पर्यटकों (Tourists) के लिए खोला गया उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का इटावा लॉयन सफारी (Etawah Lion Safari) चंबल की नई पहचान बन गया है. जैसे ही इसकी शुरुआत हुई, यहां पर देश-विदेशी पर्यटकों का आधिकारिक तौर पर आना शुरू हुआ. पहले से ऐसी उम्मीद रही थी कि इटावा लॉयन सफारी खुलने के बाद बड़ी तादात में पर्यटकों का आना होगा - ठीक वैसा हुआ भी है.

फिलहाल है बंद

फिलहाल इस सफारी को कोरोना संक्रमण की आशंका के मद्देनजर बंद रखा गया है. वैसे लॉकडाउन में लगातार मिलती छूट को देखते हुए यह उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही इसे पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा. इटावा सफारी पार्क मे इस समय 18 बब्बर शेर, 6 लैपर्ड, 3 बीयर, 66 ब्लैक बक,12 सांभर और 37 डियर हैं.

यहां था कभी डाकुओं का आतंक 

Tags: Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर