Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav; 14 साल बाद सपा में लौटे मनीष यादव, दो बार लड़ चुके हैं शिवपाल के खिलाफ चुनाव

UP Chunav; 14 साल बाद सपा में लौटे मनीष यादव, दो बार लड़ चुके हैं शिवपाल के खिलाफ चुनाव

 समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर मनीष यादव और उनके समर्थकों का स्वागत किया गया.

समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर मनीष यादव और उनके समर्थकों का स्वागत किया गया.

Uttar Pradesh Assembly Election: पीएसपीएल प्रमुख शिवपाल सिंह यादव के खिलाफ जसवंतनगर विधानसभा में करीब एक दशक से मोर्चा खोले रहे भाजपा नेता मनीष यादव अब सपा के लिए वोट मांगेंगे. स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ उन्होंने अखिलेश यादव के सामने सदस्यता ले ली. उन्होंने इटावा क्षेत्र में सपा प्रत्याशियों को जिताने के लिए काम करने की बात कही है. वह यहां बीजेपी से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

इटावा. पीएसपीएल (PSP) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) के खिलाफ जसवंतनगर विधानसभा (Jaswantnagar Assembly) क्षेत्र में करीब एक दशक से मोर्चा खोले भारतीय जनता पार्टी के नेता मनीष यादव और उनके सैकड़ों समर्थकों ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर मनीष यादव और उनके समर्थकों का स्वागत किया गया. मनीष यादव 14 वर्ष का वनवास काट कर समाजवादी पार्टी में वापस लौटे हैं.

पुराने समाजवादी रहे पूर्व भाजपा के विधानसभा प्रत्याशी रहे मनीष यादव स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ लखनऊ में सपा प्रमुख अखिलेश यादव के समक्ष सदस्यता ग्रहण कर चुके हैं. मनीष यादव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि हमारा परिवार पहले से ही समाजवादी था. मेरे बड़े भाई दलवीर यादव समाजवादी छात्र सभा के जिलाध्यक्ष पद पर रहे हैं. उनकी हत्या के बाद हालात खराब होने के कारण 14 वर्ष तक समाजवादी पार्टी से दूरियां बनी रहीं, लेकिन अब पुनः अपने परिवार में वापसी हुई है. वह इटावा में तीनों विधानसभा सीटों पर मेहनत करके प्रदेश की योगी सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करेंगे.

जसवंतनगर से अब कोई बीजेपी का झंडा उठाने वाला भी नहीं
मनीष यादव की मानें तो उनके पिता ज्ञान सिंह को नेता जी मुलायम सिंह यादव ने करहल के जैन इंटर कालेज में पढ़ाया है. उनके पिता और वो शुरुआती दौर से ही समाजवादी पार्टी का झंडा उठाये रहे हैं. उनका कहना है कि 2017 विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार के तौर पर 75 हजार वोट मिले थे, उनके समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद अब जसवंतनगर विधानसभा सीट पर झंडा उठाने वाला भी कोई भाजपा को नहीं मिलेगा.

स्वामी प्रसाद मौर्य मेरे गुरु
जसवंतनगर विधानसभा से शिवपाल सिंह के खिलाफ दो बार चुनाव लड़ चुके मनीष यादव ने बीजेपी से इस्तीफा देने के साथ कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य उनके गुरु हैं. उनके इशारे पर ही उन्होंने भी बीजेपी छोड़ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है. मनीष यादव एक ज़माने से समाजवादी पार्टी के विरोधी माने जाते रहे हैं. साल 2012 में मनीष यादव ने समाजवादी पार्टी का गढ़ माने जाने वाले जसवंतनगर विधानसभा सीट से शिवपाल सिंह के खिलाफ बहुजन समाज पार्टी से चुनाव लड़ा था.

Tags: Akhilesh yadav, Etawah news, Manish Yadav, Shivpal Yadav, UP Assembly Elections 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर