150 छात्रों के सिर मुंडवाने का मामला: वीसी बोले- जांच रिपोर्ट में रैगिंग का आरोप निराधार

यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ राजकुमार ने कहा है कि यूनिवर्सिटी के जूनियर छात्रों के कैंपस में सिर मुंडे हुए दिखाई दिए थे. जांच रिपोर्ट के अनुसार रैगिंग का आरोप निराधार है. इस रिपोर्ट पर सभी छात्रों के हस्ताक्षर लिए गए हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 22, 2019, 2:24 PM IST
150 छात्रों के सिर मुंडवाने का मामला: वीसी बोले- जांच रिपोर्ट में रैगिंग का आरोप निराधार
सैफई के मेडिकल यूनिवर्सिटी में 150 जूनियर छात्र कैंपस में सिर मुंडाकर परेड करते नजर आए थे.
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 22, 2019, 2:24 PM IST
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सैफई (Saifai) में स्थित उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज (Uttar Pradesh University of Medical Sciences/यूपीयूएमएस) में रैगिंग के मामले से हड़कंप मचा हुआ है. मामले में अब यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ राजकुमार ने कहा है कि यूनिवर्सिटी के जूनियर छात्रों के कैंपस में सिर मुंडे हुए दिखाई दिए थे. आरोप लगाया गया था कि इनके साथ रैगिंग की गई है. उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच रिपोर्ट के अनुसार छात्रों ने इस संबंध में किसी भी तरह की रैगिंग की बात से इनकार किया है. जांच रिपोर्ट के अनुसार रैगिंग का आरोप निराधार है. इस रिपोर्ट पर सभी छात्रों के हस्ताक्षर लिए गए हैं.

दरअसल यूनिवर्सिटी के करीब 150 जूनियर छात्रों का सीनियर छात्रों ने जबरन सिर मुंडवा दिया और जूनियर छात्रों से सीनियर छात्रों के हॉस्टल के सामने परेड करवाई गई. जूनियर एमबीबीएस के छात्रों से जबरन 'हुजूर तोहफा कुबूल है' के नारे लगवाए गए.

देश की सबसे बड़ी अदालत ने कई बार अपने आदेशों में सख्ती से रैगिंग पर रोक लगाने को कहा है. रैगिंग के खिलाफ कानून भी सरकार ने बना रखे हैं. इसके बावजूद सैफई में गुंडागर्दी अराजकता और इस तरह से छात्रों को अपमानित करके रैगिंग किए जाने का यह मामला सामने आया है. तस्वीर में आप देख सकते हैं कि सैकड़ों छात्र एक कतार में सिर मुड़वाकर सीनियर हॉस्टल के सामने से गुजर रहे हैं और सीनियर्स की दबंगई से इतना परेशान है कि बेहद अपमानजनक रैगिंग के बाद सीनियर्स के कहे अनुसार नारे भी लगा रहे हैं.

VC DR Rajkumar
सैफई के उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज के वीसी डॉ राजकुमार


इस पूरे मामले में खुलकर सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी प्रशासन की लापरवाही और संवेदनहीनता उजागर हुई. वहीं, इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद मेडिकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ राजकुमार ने कहा था कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. अब जांच रिपोर्ट के आधार पर वह रैगिंग की बात से ही इनकार कर रहे हैं.

(इनपुट: दीपक मिश्रा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इटावा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 2:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...