बतौर सीएम आज पहली बार इटावा का दौरा करेंगे योगी आदित्यनाथ

जिले के राजनीतिक हलकों में चर्चा चल रही है कि सपा के गढ़ से सीएम योगी 2019 के लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 1, 2018, 12:02 AM IST
बतौर सीएम आज पहली बार इटावा का दौरा करेंगे योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 1, 2018, 12:02 AM IST
सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पहले इटावा दौरे के लिए अधिकारियों ने रात-दिन मेहनत करके शहर की कायापलट कर दी है. अधिकारियों ने शहर में सफाई करवा कर चौराहों पर संगमरमर के पत्थर लगवाकर शहर को संवार दिया है.

सीएम का कार्यक्रम जिस पंडाल में होना है, उस पंडाल को दुल्हन की तरह सजा दिया गया है. शहर में बनी हर सरकारी बिल्डिंग की रंगाई-पुताई करवा दी गई है. इसके साथ ही शहर की सड़कों में बने गड्ढों को रात-दिन काम करवाकर भर दिया गया है.

जिले के राजनीतिक हलकों में चर्चा चल रही है कि सपा के गढ़ से सीएम योगी 2019 के लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे. मुख्यमंत्री के दौरे को लेकर प्रदेश के बड़े-बड़े अधिकारियों ने अभी से ही इटावा पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया है.

आईजी जोन कानपुर आलोक सिंह ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. उसके बाद डीएम, एसएसपी समेत कई अधिकारियों ने पुलिस लाइन में बैठकर शुक्रवार को होने वाले सीएम के कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की.

सीएम शुक्रवार को सुबह 10 बजे इटावा पुलिस लाइन में बने हैलीपैड पर हेलिकॉप्टर से उतरेंगे. उसके बाद राजा सुमेर सिंह वीवीआईपी गेस्ट हाउस में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे. इसके बाद कानपुर और बुंदेलखंड मंडल के सांसदों और विधायकों के साथ भी बैठक करेंगे.

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि सीएम योगी इसी बैठक में इस सपा के गढ़ में सेंध लगाने के लिए बनाई गई रणनीति को अंतिम रूप देंगे और 2019 के लोकसभा चुनाव की रणनीति का भी आगाज करेंगे. उसके बाद कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न योजनाओं के 1000 लाभार्थियों को लाभ देने के बाद जनसभा को सम्बोधित करेंगे.

गेहूं क्रय केंद्रों का भी निरीक्षण करेंगे
जिलाद्धिकारी सेल्वा कुमारी जे ने बताया कि सीएम के आगमन को लेकर हम लोगों ने तैयारियां पूरी कर लीं हैं. एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने बताया कि सीएम के आगमन को लेकर शहर के हर चौराहे के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. पीएसी के एक हजार सिपाही सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किए गए हैं.  किसी प्रकार की अराजकता होने पर अराजकतत्वों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और संदिग्धों पर भी पैनी नजर रखी जाएगी.

ये भी पढ़ें- अखिलेश के इस एक मास्टरस्ट्रोक से कैराना में BJP को मिली करारी हार

अब पूर्व बीजेपी जिलाध्यक्ष को भी मिली धमकी, कहा- 10 लाख दो वर्ना कर देंगे हत्या

उपचुनाव के नतीजों पर आजम बोले- जो इंसाफ का रास्ता छोड़ेगा, उसकी ऐसी ही जिल्लत होगी
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर