लाइव टीवी

यौन शोषण के बाद जूनियर महिला डॉक्टर को सीनियर ने हलवे में खिलाया जहर, हालत गंभीर
Etawah News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 23, 2019, 12:44 PM IST
यौन शोषण के बाद जूनियर महिला डॉक्टर को सीनियर ने हलवे में खिलाया जहर, हालत गंभीर
महिला जूनियर डॉक्टर का इलाज मिनी पीजीआई में चल रहा है (File Photo)

डॉक्टर सैलजा के परिजनों के मुताबिक, सैफई पीजीआई के डॉक्टर अतीक डॉक्टर बोस और कुछ अन्य डॉक्टरों ने शैलजा से नजदीकियां बढ़ाकर दोस्ती के नाम पर उनका यौन शोषण किया.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के इटावा स्थित सैफई पीजीआई में मेडिकल छात्रा के साथ यौन शोषण के बाद उसे जहर खिलाने का मामला बेहद गंभीर हो गया है. वेंटिलेटर पर जिंदगी और मौत से जूझ रही पीड़ित डॉक्टर शैलजा के परिजनों ने सीनियर डॉक्टरों पर उसके यौन शोषण और हत्या के प्रयास का आरोप लगाया है. परिजनों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इंसाफ की गुहार लगाई है.

डॉक्टर शैलजा, बड़े अरमानों से पंजाब के लुधियाना शहर से इटावा के सैफई में मास्टर ऑफ सर्जरी का कोर्स करने के लिए आई थी. आरोप है कि सैफई पीजीआई के कुछ सीनियर डॉक्टरों ने दोस्ती के जाल में फंसा कर शैलजा को अपना शिकार बना लिया. उसका यौन शोषण किया और जब उन्हें अपना राज खुलने का अंदेशा हुआ तो उन्होंने डॉक्टर शैलजा को धोखे से जहर खिलाकर मौत के मुंह में ढकेल दिया.

पिछले तीन दिन से डॉक्टर शैलजा वेंटीलेटर पर है, उनकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई है. उनके परिजन पुलिस अधिकारियों के दरवाजों पर चक्कर लगाकर इन्साफ की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन इटावा पुलिस ने अभी तक इस मामले में दुखी माता पिता की प्रार्थना पत्र पर एफआईआर भी नहीं लिखी है.

डॉक्टर शैलजा के पिता अनिल सचदेवा का कहना है कि सैफई पीजीआई के डॉक्टर अतीक और डॉक्टर बोस ने डॉक्टर शैलजा के साथ गलत काम किया और उसे मौत के मुंह में डाल दिया.


नजदीकियां बढ़ाकर दोस्ती के नाम पर यौन शोषण किया

डॉक्टर सैलजा के परिजनों के मुताबिक, सैफई पीजीआई के डॉक्टर अतीक, डॉक्टर बोस और कुछ अन्य डॉक्टरों ने शैलजा से नजदीकियां बढ़ाकर दोस्ती के नाम पर उनका यौन शोषण किया. वह लोग अपने साथ डॉक्टर शैलजा को किसी स्थान पर पार्टी मनाने के लिए ले गए थे, वहां से आने के बाद ही डॉक्टर शैलजा की हालत बिगड़ी.

डॉक्टर शैलजा की मां सुनीता सचदेवा ने आरोप लगाते हुए कहा कि डॉक्टर अतीक के कहने पर डॉक्टर शैलजा ने उसके लिए हलवा भी बनाया था. बचे हुए हलवे में जहर मिलाकर डॉक्टर शैलजा को दिया गया. जिसके चलते उसकी हालत बेहद नाजुक हो चुकी है.
वहीं, सैफई पीजीआई के अधिकारियों और पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस मामले में एमएस सेकंड ईयर की छात्रा डॉक्टर शैलजा को प्यार और दोस्ती के जाल में फंसा कर शारीरिक शौषण और फिर रास्ते से हटाने की कोशिश की गई है. बेहद संवेदनशील मामला बताते हुए अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है.

मामले में 1 महीने में जांच रिपोर्ट देगी कमेटी

वहीं सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर राजकुमार का कहना है कि इस बारे में एक उच्चस्तरीय जांच कमेटी बना दी गई है, जो एक माह में अपनी रिपोर्ट देगी. उन्होंने कहा कि जांच में जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा. फिलहाल उनका पहला काम अभी शैलजा की जान बचाना है, जिसको लेकर हर संभव कदम उठाया जा रहा है.

(रिपोर्ट- दीपक मिश्रा)

ये भी पढ़ें--

बिल्डर के कहने पर चुराईं 100 से अधिक SUV कारें, दो गिरफ्तार

डॉक्टर्स ने नवजात जुड़वां बच्चों को बताया मृत, अंतिम संस्कार के वक्त एक जिंदा निकला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इटावा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 7:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर