• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • नोएडा: एक करोड़ लेने के बाद भी 6 साल में नहीं दिया फ्लैट, 20 लोगों के खिलाफ दर्ज हुई FIR

नोएडा: एक करोड़ लेने के बाद भी 6 साल में नहीं दिया फ्लैट, 20 लोगों के खिलाफ दर्ज हुई FIR

बिल्डर ने 1.3 करोड़ रुपये लेने के बाद भी खरीदार को फ्लैट नहीं दिया. 
(सांकेतिक फोटो)

बिल्डर ने 1.3 करोड़ रुपये लेने के बाद भी खरीदार को फ्लैट नहीं दिया. (सांकेतिक फोटो)

साल 2014 में देवी सिन्हा (Devi Sinha) ने नोएडा के सेक्टर-127 में 1950 स्क्वायर फुट का फ्लैट बुक कराया था. बुकिंग के वक्त 1.3 करोड़ रुपए भी जमा कराए थे. रुपये जमा कराने से संबंधित सभी कागजात उनके पास सुराक्षित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नोएडा. ऐसा लगता है कि खासतौर से नोएडा (Noida)-ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के फ्लैट बायर्स पर कोर्ट की सीधी निगाह है. यही वजह है कि एक के बाद एक कोर्ट से फ्लैट बायर्स के हक में फैसले हो रहे हैं. सुपरटेक (Supertech) के अवैध टावर मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का आदेश किसी से छिपा नहीं है. ताजा मामला भी नोएडा का ही है. बिल्डर ने 1.3 करोड़ रुपये लेने के बाद भी खरीदार को फ्लैट नहीं दिया. वहीं, फ्लैट खरीदार ने रुपये वापस मांगने पर बिल्डर द्वारा धमकी देने का भी आरोप लगाया है. स्थानीय कोर्ट के आदेश पर नोएडा पुलिस (Noida Police) ने कंपनी से जुड़े 20 लोगों के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर जांच शुरु कर दी है.

    जानकारों की मानें तो साल 2014 में देवी सिन्हा ने नोएडा के सेक्टर-127 में 1950 स्क्वायर फुट का फ्लैट बुक कराया था. बुकिंग के वक्त 1.3 करोड़ रुपए भी जमा कराए थे. रुपये जमा कराने से संबंधित सभी कागजात उनके पास सुराक्षित हैं. खास बात यह है कि एक इन्वेस्टर्स फर्म के माध्यम से फ्लैट की बुकिंग कराई गई थी. उस वक्त बिल्डर ने 3.6 साल में फ्लैट तैयार कर कब्जा देने का वादा किया था. लेकिन तय वक्त बीतने के बाद भी जब फ्लैट नहीं मिला तो देवी सिन्हा ने बिल्डर से संपर्क किया, लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला.

    रुपये मांगने पर धमकी दी तो 20 के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर
    फ्लैट बायर्स देवी सिन्हा का आरोप है कि जब उन्होंने बिल्डर से अपने रुपये वापस मांगे तो उसकी तरफ से धमकियां दी जाने लगीं. कहा जाता था कि अगर वसूल सको तो वसूल लो, जाओ हम नहीं देते रुपये. इस पर देवी सिन्हा ने कोर्ट की शरण ली. कोर्ट ने पूरा मामला समझने के बाद संबंधित पुलिस स्टेशन को बिल्डर और इंवेस्टर्स फर्म से संबंधित 20 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश जारी किए. जिस पर बीटा-2 कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है. अब मामले की जांच भी शुरु हो गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज