Home /News /uttar-pradesh /

अयोध्या में रैली नहीं कर पाएंगे उद्धव ठाकरे, योगी प्रशासन ने नहीं दी मंजूरी

अयोध्या में रैली नहीं कर पाएंगे उद्धव ठाकरे, योगी प्रशासन ने नहीं दी मंजूरी

यूपी प्रशासन ने राम कथा पार्क में किसी भी तरह की रैली की इजाजत नहीं दी है. चूंकि यह जगह विवादित बाबरी मस्जिद और राम जन्म भूमि स्थल के काफी करीब है, ऐसे में कोई भी विवादित टिप्पणी माहौल बिगाड़ सकती है.

    शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 24 नवंबर को अयोध्या दौरे पर पहुंच रहे हैं. वह यहां आर्शीवाद समारोह में शामिल होंगे. इसके बाद सरयू आरती में शामिल होंगे. इसके बाद वह राम लला के दर्शन के बाद प्रेस कांफ्रेंस करेंगे और अयोध्या से रवाना हो जाएंगे. उधर इसके अलावा शिवसेना की एक जनसभा को लेकर भी चर्चा गर्म है.

    हालांकि सूत्रों के मुताबिक, यूपी प्रशासन ने राम कथा पार्क में किसी भी तरह की रैली की इजाजत नहीं दी है. चूंकि यह जगह विवादित बाबरी मस्जिद और राम जन्म भूमि स्थल के काफी करीब है, ऐसे में कोई भी विवादित टिप्पणी माहौल बिगाड़ सकती है. बताया जा रहा है कि शिवसेना इस कार्यक्रम को गुलाब बरी में शिफ्ट कर सकती है, जो विवादित स्थल से कुछ किलोमीटर दूर है.

    मंगलवार को संजय राउत ने शिवसेना आशीर्वाद सभा के लिए भूमि पूजन करने के बाद कहा कि लोगों को बहुत सालों से केंद्र में रामलला की सरकार बनने का इंतजार किया. अब जब केंद्र में राम लला की सरकार बन गई है. उसके बावजूद राम का मंदिर ना बने. यही याद दिलाने के लिए उद्धव ठाकरे अयोध्या रहे हैं.
    संजय राउत ने कहा कि आर्शीवाद समारोह में उद्धव ठाकरे शामिल होंगे. इसके बाद शाम 6 बजे वह सरयू आरती में जाएंगे.

    मुलायम सिंह यादव: नेहरू के जमाने में शुरू किया राजनीतिक जीवन, इंदिरा के समय गए जेल

    जब संजय राउत से ये पूछा गया कि 25 तारीख को सीएम के निर्देशानुसार रामलला के दर्शन के लिए ग्रुप बनाकर नहीं जा सकता. इस पर संजय राउत ने कहा कि हमारी मुख्यमंत्री से अच्छी मुलाकात हुई है. राज्य में कानून व्यवस्था रहनी चाहिए. इतने बड़े राज्य को चलाना बड़ी जिम्मेदारी होती है. 24 और 25 के जो कार्यक्रम हमने तय किए हैं. उस बारे में हमने प्रशासन को जानकारी दी है. सीएम को भी जानकारी दी है. मैं ये कहूंगा कि हमारे सभी कार्यक्रम ठीक तरह से होंगे.

    अयोध्या में 'दूसरे राम मंदिर आंदोलन' की आहट से फूले प्रशासन के हाथ-पैर

    वहीं इसके अलावा जनसभा की योजना, प्रशासन से अनुमति न मिलने की बात पर संजय राउत ने कहा कि सभा के बारे में न किसी से परमीशन मांगी थी, न मांगेंगे. जो रैली की बात चल रही है. उसमें डीएम या जिला प्रशासन के यहां हमारी तरफ से भेजा कोई कागज हमें दिखाए. उन्होंने कहा कि हमने कभी भी जनसभा की बात नहीं की है. हमारी बात उद्धव जी की अयोध्या यात्रा के बारे में, राम दर्शन के बारे में और आर्शीवाद समारोह के बारे में है और यह होगा.

    इस दौरान महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे और कार्यक्रम संयोजक अमरनाथ मिश्रा ने भी किसी भी जनसभा की बात से इंकार किया, उन्होंने कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 24 नवंबर को आयोध्या आएंगे. यहां एक आर्शीवाद सभा होगी. संत—महंत उन्हें आर्शीवाद देंगे. इसके बाद सरयू आरती होगी और रामलला का दर्शन होगा.

    (रिपोर्ट: निमिष गोस्वामी)

    ये भी पढ़ें: 

    UPTET 2018: दो दिन बाद जारी हुई आंसर-की, आ​पत्ति दर्ज कराने को 24 घंटे हैं आपके पास

    ट्रेन एक्सीडेंट: 8 घंटे की मरम्मत के बाद शुरू हुआ ट्रैक, कुल 17 ट्रेनें हुई बाधित

    कानपुर देहात: मूसा नगर का नाम 'मुक्ता नगर' करने का आया प्रस्ताव तो करेंगे विचार: डिप्टी सीएम

    अयोध्या में 'दूसरे राम मंदिर आंदोलन' की आहट से फूले प्रशासन के हाथ-पैर

    मुरादाबाद से बरेली जा रही एमटी कोच ट्रेन के सात डिब्बे पलटे, रेल संचालन ठप

    सच कहना अगर बगावत है तो हां, मैं बागी हूं: शत्रुघ्न सिन्हा

    आपके शहर से (फैजाबाद)

    फैजाबाद
    फैजाबाद

    Tags: Faizabad news, Sanjay raut, Shiv sena, Up news in hindi, Uttarpradesh news, फैजाबाद

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर