अयोध्या विवाद: साधु-संत ने श्री श्री रविशंकर का किया विरोध, कहा-हमेशा रहे हैं विवादित

महंत रामदास ने इसका विरोध करते हुए कहा कि श्री श्री रविशंकर जी वैष्णव, रामानंद संप्रदाय और अयोध्या की परंपरा के संत नहीं हैं. साथ ही वे हमेशा विवादित भी रहे हैं. ऐसे में उनको पैनल में शामिल करना ठीक नहीं है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 12, 2019, 8:48 PM IST
अयोध्या विवाद: साधु-संत ने श्री श्री रविशंकर का किया विरोध, कहा-हमेशा रहे हैं विवादित
महंत रामदास
News18 Uttar Pradesh
Updated: March 12, 2019, 8:48 PM IST
अयोध्या विवाद को सुलह-समझौता से हल करने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाए गए पैनल को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल पैनल में शामिल संत श्री श्री रविशंकर का अयोध्या के साधु-संत विरोध कर रहे हैं. पौराणिक नाका हनुमानगढ़ी के महंत और पक्षकार महंत रामदास ने इसका विरोध करते हुए कहा कि श्री श्री रविशंकर जी वैष्णव, रामानंद संप्रदाय और अयोध्या की परंपरा के संत नहीं हैं. उनका मानना है कि वे हमेशा विवादित भी रहे हैं. ऐसे में उनको पैनल में शामिल करना ठीक नहीं है.

महंत रामदास ने सुझाव दिया है कि किसी सर्वमान्य संत को ही सुलह-समझौते के लिए पैनल में नामित किया जाना चाहिए.  इसके लिए उन्होंने श्री राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष और मणिराम दास छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास का नाम लेते हुए कहा कि उनका व्यक्तित्व सर्वमान्य है. इसी के साथ ही उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के सुलह-समझौते के प्रयास की सराहना की और कहा कि मुस्लिमों को अपना दिल बड़ा दिखाना चाहिए, जिससे विवाद हल हो सके.



अयोध्या विवाद


उन्होंने यह भी संकेत दिया कि हमारे तीन अखाड़े हैं- निर्मोही, निर्वाणी और दिगंबर. जब भी राम मंदिर का निर्माण होगा, इन तीन अखाड़ों को मिलाकर ही ट्रस्ट बनेगा जो मंदिर का निर्माण कराएगा. वहीं बाबरी मस्जिद के मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने भी कहा है कि वे सुप्रीम कोर्ट के पैनल का सम्मान है लेकिन वे श्री श्री रविशंकर का विरोध करते हैं. (रिपोर्ट-के बी शुक्ला)

ये भी पढ़ें: अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए इस स्थान पर बातचीत करेगा पैनल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार