अयोध्या में पखवाड़े भर चलने वाला सावन झूला मेला शुरू

श्रद्धालुओं ने भगवान के स्वरूपों को झूला-झूलाकर और मधुर उपासना के गीत गाकर वातावरण को भक्तिमय कर दिया. मेला स्थल पर सुरक्षा की दृष्टि से आरएएफ की तैनाती की गई थी और भीड़ के कारण मणिपर्वत पर दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को अलग-अलग जत्थों में छोड़ा गया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 15, 2018, 2:56 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 15, 2018, 2:56 PM IST
अयोध्या के एतिहासिक मणिपर्वत स्थल पर पखवाड़े भर चलने वाला सावन झूला मेला मंगलवार श्रावण शुक्ल तृतीया को शुरू हो गया. मणिपर्वत स्थल पर प्रमुख मंदिरों से राम सिया युगल स्वरूप रथों पर सुशोभित होकर आए तो कनक भवन के कनक बिहारी कहांरों के कंधे पर सवार होकर पहुंचे. साथ चल रहे संत, धर्माचार्य और भक्त वाद्य यंत्रों की धुन पर थिरकते और धार्मिक जयघोष करते चल रहे थे.

मेला स्थल पर वैदिक रीति से पूजन के बाद स्वरूपों को विशालकाय वृक्षों के झूलों पर सुशोभित कर दिया गया. फिर क्या था? श्रद्धालुओं ने भगवान के स्वरूपों को झूला-झूलाकर और मधुर उपासना के गीत गाकर वातावरण को भक्तिमय कर दिया. मेला स्थल पर सुरक्षा की दृष्टि से आरएएफ की तैनाती की गई थी और भीड़ के कारण मणिपर्वत पर दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को अलग-अलग जत्थों में छोड़ा गया.

जिलाधिकारी अनिल पाठक और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दोनों अधिकारी मेला क्षेत्र में मौजूद रहे और मेले का जायजा लेते रहे. मंगलवार को मुख्यमंत्री अयोध्या आए थे. इसके कारण प्रशासन ने व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त कर रखा था. प्रशासन ने सीएम के कार्यक्रम और मेले के सकुशल उद्घाटन के बाद राहत की सांस ली.

रिपोर्ट - निमिष गोस्वामी

ये भी पढ़ें -

स्वतंत्रता दिवस पर बोले अखिलेश यादव- एक-दो लोग अंतरिक्ष में घूम आएं तो उससे देश खुशहाल नहीं होगा

स्वतंत्रता दिवस पर सीएम योगी ने कहा- विकास होगा तो सबका होगा
Loading...
स्वतंत्रता दिवस: 9 करोड़ पौधे लगाकर इतिहास रचने की तैयारी में उत्तर प्रदेश
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर