Home /News /uttar-pradesh /

राम मंदिर को लेकर BJP से खफा अयोध्या के संत, बोले- विकास ने नहीं, प्रभु श्रीराम ने दिलाई सत्ता

राम मंदिर को लेकर BJP से खफा अयोध्या के संत, बोले- विकास ने नहीं, प्रभु श्रीराम ने दिलाई सत्ता

श्री राम जन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य महंत कमल नयनदास

श्री राम जन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य महंत कमल नयनदास

नयनदास ने कहा कि विकास के नाम पर चुनाव लड़ने पर बीजेपी की क्या स्तिथि हुई थी सबको पता है. चुनाव हारते-हारते दो सीटों पर सिमट गई थी.

    श्री राम मंदिर निर्माण नहीं होने से अयोध्या के संतों में बीजेपी सरकार के खिलाफ अब आक्रोश बढ़ता दिख रहा है. श्री राम जन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य महंत कमल नयनदास ने कहा कि विकास के मुद्दे पर बीजेपी ने पहले भी चुनाव लड़ा था लेकिन सत्ता में वह भगवान श्रीराम की कृपा से ही पहुंची.

    नयनदास ने कहा कि विकास के नाम पर चुनाव लड़ने पर बीजेपी की क्या स्तिथि हुई थी, सबको पता है. चुनाव हारते-हारते दो सीटों पर सिमट गई थी. इसके बाद भगवान श्री रामजी ने बीजेपी को सत्ता में पहुंचाया. लेकिन श्री राम मंदिर के लिए अभी तक कुछ नहीं किया गया. इसको लेकर संतों में नाराजगी है.

    यह भी पढ़ें: अयोध्या मामला: हिंदुओं ने किया 1994 के फैसले पर पुनर्विचार की मांग का विरोध

    उन्होंने कहा कि अयोध्या में 25 व 26 जून को संत सम्मलेन में जुटने वाले संत श्री राम मंदिर निर्माण व बीजेपी की भूमिका पर विचार करेंगे. संत सम्मेलन में निर्णय होगा कि आगे क्या करना है. बीजेपी के साथ रहना है या फिर उसके खिलाफ आंदोलन चलाना है.



    दरअसल, उन्होंने यह प्रतिक्रिया केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के उस बयान पर दी, जिसमें उन्होंने कहा था कि 2019 के चुनाव में बीजेपी का एकमात्र एजेंडा विकास ही होगा.

    बता दें कि कुछ दिन पहले गोवा के पणजी में आयोजित ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी से जब राम मंदिर बनवाने के मुद्दे पर सवाल किया गया था, तो उन्होंने साफतौर पर नकारते हुए ये कहा कि 2019 के चुनावों में हिंदुत्व और 'राम मंदिर' के मुद्दों के लिए कोई जगह नहीं होगी, सिर्फ विकास ही हमारा एक सूत्रीय एजेंडा होगा.

    नकवी के इस बयान के बाद से ही अयोध्या के संत उद्वेलित नजर आ रहे हैं. नयनदास के मुताबिक, अब संत सम्मलेन में बीजेपी की भूमिका को लेकर निर्णय होगा. इस सम्मलेन में देश ही नहीं दुनिया भर से संत एकत्र हो रहे हैं. इसके बाद निर्णय लिया जाना है कि आगे राम मंदिर आन्दोलन को कैसे बढ़ाना है.

    (रिपोर्ट: निमिष गोस्वामी)

    ये भी पढ़ें- पर्यावरण दिवस पर बेटी और बेटे संग अखिलेश यादव ने चलाई साइकिल

    तस्वीरों में देखिये यूपी के इस थाने में कैसे सजती है दारोगा की महफिल

    विश्व पर्यावरण दिवस विशेष: सूख गई मोक्षदायिनी गोमती की अविरल धारा!

    आपके शहर से (फैजाबाद)

    फैजाबाद
    फैजाबाद

    Tags: BJP

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर