सवर्ण आरक्षण के विरोध में बहुजन मुक्ति मोर्चा का भारत बंद असफल, सैकड़ों कार्यकर्ता गिरफ्तार

संविधान बचाओ संघर्ष समिति ने केंद्र सरकार द्वारा सवर्णों को आर्थिक आधार पर 10% आरक्षण देने के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 5, 2019, 8:46 PM IST
सवर्ण आरक्षण के विरोध में बहुजन मुक्ति मोर्चा का भारत बंद असफल, सैकड़ों कार्यकर्ता गिरफ्तार
सवर्ण आरक्षण का विरोध
News18 Uttar Pradesh
Updated: March 5, 2019, 8:46 PM IST
अयोध्या में बहुजन मुक्ति मोर्चा के झंड़े तले सवर्ण आरक्षण के विरोध में बुलाया गया भारत बंद बेअसर हो गया है. शहर में संविधान बचाओ संघर्ष समिति के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने गुलाबबाड़ी क्षेत्र में इकट्ठा होकर शहर के मुख्य मार्गो पर जुलूस निकालना चाह रहे थे. हालांकि जिला प्रशासन ने किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए जिले में धारा 144 लगा दिया है. प्रशासन ने धारा 144 का हवाला देकर गुलाबबाड़ी मैदान में ही सारे कार्यकर्ताओं को कैद कर लिया.

दरअसल संविधान बचाओ संघर्ष समिति ने केंद्र सरकार द्वारा सवर्णों को आर्थिक आधार पर 10% आरक्षण देने के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया था. साथ ही होने वाले 2019 के लोकसभा चुनाव में ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से चुनाव करवाने की मांग भी की गई थी.

प्रशासन ने बहुजन मुक्ति मोर्चा पर आरोप लगाया है कि इन्होंने रैली के लिए अनुमति नहीं ली थी. इसलिए शांति व्यवस्था के मद्देनजर उन्हें शहर में जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी गई है. साथ ही जिले में धारा 144 भी लागू कर दिया गया है.

प्रशासन ने कहा कि बहुजन मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं को कड़ी सुरक्षा के बीच गुलाबबाड़ी मैदान में ही कैद रखा गया. वहीं बहुजन मुक्ति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रामधारी दिनकर ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिन पर संविधान की रक्षा का दायित्व है, वही संविधान बचाओ रैली को रोकने का काम कर रहे हैं. (रिपोर्ट-के बी शुक्ला)

ये भी पढ़ें: भागवत शर्मा बोले- सवर्ण आरक्षण का विरोध कर तेजस्वी ने अपनी पैर पर मारी कुल्हाड़ी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 5, 2019, 8:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...