Home /News /uttar-pradesh /

राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी ने बीजेपी को दी नसीहत, राम मंदिर पर न करें राजनीति

राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी ने बीजेपी को दी नसीहत, राम मंदिर पर न करें राजनीति

राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी सत्येन्द्र दास

राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी सत्येन्द्र दास

सत्येन्द्र दास ने कहा कि शुभ घड़ी आ गई है. जल्द से जल्द कोर्ट फैसला सुनाए, जिससे मंदिर निर्माण की राह आसान हो.

    अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को हो रही सुनवाई से पहले बयानबाजी का दौर शामिल है. राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने राम मंदिर के मुद्दे पर बीजेपी को नसीहत देते हुए कहा है कि वह मामले पर राजनीति न करे. उन्होंने कहा कि बीजेपी समेत तमाम दल इस मामले पर राजनीति कर रहे हैं.

    सत्येन्द्र दास ने कहा कि शुभ घड़ी आ गई है. जल्द से जल्द कोर्ट फैसला सुनाए, जिससे मंदिर निर्माण की राह आसान हो. बीजेपी राम मंदिर पर राजनीति न करे. सभी लोग सियासत कर रहे हैं और हमें फैसले का इंतजार है.

    उन्होंने उम्मीद जाहिर करते हुए कहा कि कोर्ट का फैसला राम मंदिर के पक्ष में आएगा. उन्होंने कहा, "यदि फैसला तीन भागों में आता है तो हम बैठकर समझौता करेंगे. लेकिन मंदिर जरूर बनेगा."

    राम जन्म भूमि के प्रमुख पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास कहते हैं कि न्यायाधीश सबूतों के आधार पर अपना फैसला देता है. इस मामले में न्यायालय जो भी निर्णय करेगा, वह उचित ही होगा. उन्होंन कहा कि कोर्ट का निर्णय सभी को मान्य होगा.

    वहीं राम मंदिर निर्माण में देरी को लेकर अनशन कर चुके महंत परमहंस दास कहते हैं कि चीफ जस्टिस न्यायपालिका के सबसे सर्वोच्च पद पर हैं. फैसला साक्ष्यों के आधार पर होता है. परमहंस पिछले फैसले की तर्ज पर ही इस बार भी फैसला आने के प्रति आश्वस्त दिखे. परमहंस ने कहा कि राम मंदिर बनेगा.

    वहीं मामले में बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबार अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में रोजाना सुनवाई शुरू हो रही है. फैसला किसी के भी हक में आए है हम इसे मानेंगे. उन्होंने कहा कि फैसला सबूतों के आधार पर आना है. हमने मांग की थी के 5 जजों की खंडपीठ सुनवाई करे तो जल्द आएगा फैसला. हमारी ये मांग पूरी नहीं हुई लेकिन फैसला होना चाहिए और सबूतों के आधार पर फैसला होगा.

    ये भी पढ़ें: 

    राम मंदिर पर अदालत में फैसला विपरीत आया तो कानून लाकर करेंगे निर्माण: केशव प्रसाद मौर्य

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में मायावती-अखिलेश के बीच गठबंधन की अटकलें तेज

    बीजेपी की वजह से ही शुरू हुई अयोध्या मामले पर सुनवाई: मनीष शुक्ला

    Tags: Babri Masjid Demolition Case, Faizabad news, Up news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर