लाइव टीवी

अपना वजूद बचाने के लिए मुसलमानों को भड़का रही है कांग्रेस: विनय कटियार

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 2, 2020, 9:12 PM IST
अपना वजूद बचाने के लिए मुसलमानों को भड़का रही है कांग्रेस: विनय कटियार
विनय कटियार ने कही ये बात

शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में प्रदर्शन कर रही मुस्लिम महिलाओं पर कहा कि महिलाएं चाहे 50 दिन से धरने पर बैठी रहें, लेकिन इसका कुछ होने वाला नहीं है

  • Share this:
अयोध्या. भाजपा (BJP) नेता विनय कटियार (vinay katiyar) ने आरोप लगाते हुए साफ तौर पर कहा है कि शाहीन बाग (Shaheen Bagh) समेत सीएए (CAA) को लेकर जो जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं, उसके लिए बाकायदा फंडिंग की जा रही है. उन्होंने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए कि इनको फाइनेंस कौन कर रहा है. कटियार ने कांग्रेस का सीधे तौर पर नाम भी लिया और कहा कि वह अपना वजूद बचाने के लिए मुसलमानों को भड़का रहे हैं. चाहे 50 दिन, या कितने भी दिन लोग बैठे रहें, नागरिकता कानून तो लागू होकर रहेगा.

अबोध बालक नहीं हैं प्रदर्शनकारी
आगे उन्होंने कहा, "प्रदर्शनकारियों से बात करने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि वह अबोध बालक नहीं है. उनको मालूम है कि इस कानून से उनका कोई लेना देना नहीं है. यह केवल 3 देशों से आने वाले शरणार्थियों को नागरिकता देने का मामला है. इस कानून के तहत किसी को बेदखल नहीं किया जाएगा. इसलिए मुसलमान भी भड़काने में ना आएं, वह भी जानते हैं कि यह सब राजनीति हो रही है."

'ममता दिल्ली में आप के साथ मिलकर कर रहीं हैं षड्यंत्र"

विनय कटियार ने कहा कि उसके पीछे की वजह साफ है, कांग्रेस है और वह सरवाइव कैसे करे, इसके लिए मुसलमानों को भड़काने का काम किया जा रहा है. पूरे देश के अंदर इन लोगों ने सुनियोजित तरीके से सब पैसे खर्च करते हुए और सब जगह सब को बैठाने का काम किया है और यह बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण बात है इसकी पूरी जांच होनी चाहिए. कांग्रेस पार्टी, बंगाल में ममता, दिल्ली में आम आदमी पार्टी, यह सब मिलकर इस प्रकार का षड्यंत्र रच रहे हैं ताकि विश्व के अंदर भारत की छवि खराब हो.

खत्म नहीं होगा सीएए
शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रही मुस्लिम महिलाओं पर कहा कि महिलाएं चाहे 50 दिन से धरने पर बैठी रहें चाहे जितने समय तक बैठें, लेकिन इसका कुछ होने वाला नहीं है. यह सीएए तो लागू होकर रहेगा क्योंकि इसमें किसी संप्रदाय के लिए कुछ है नहीं, केवल उन लोगों के लिए हैं जो प्रताड़ित होकर दूसरे देशों से आ रहे हैं, उनको नागरिकता देने का सवाल है. बाकी किसी को यहां से बेदखल करने का मामला कुछ नहीं है, दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 2, 2020, 8:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर