इकबाल अंसारी के खिलाफ दोबारा होगी जांच, शूटर वर्तिका सिंह की शिकायत पर कोर्ट का आदेश

 इकबाल अंसारी के खिलाफ दोबारा जांच के आदेश दिए गए हैं.
 इकबाल अंसारी के खिलाफ दोबारा जांच के आदेश दिए गए हैं.

अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह (Vartika Singh) का आरोप है कि इकबाल अंसारी ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर अभद्र टिप्पणी की और उनके साथ मारपीट भी की.

  • Share this:
Krishna Shukla

फैजाबाद. बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी के खिलाफ मारपीट और प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री पर की गई अभद्र टिप्पणी के मामले में दोबारा जांच होगी. इससे पहले राम जन्मभूमि पुलिस ने क्लोजर रिपोर्ट लगा दी थी. सिविल जज सीनियर डिवीजन एफटीसी कोर्ट ने यह आदेश सुनाया है. थाना राम जन्मभूमि के इकबाल अंसारी के खिलाफ दर्ज मुकदमे में फाइनल रिपोर्ट लगाने के बाद अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह अयोध्या पहुंचकर भड़क गई थीं. उन्होंने कहा था कि इकबाल अंसारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अभद्र टिप्पणी की थी और मुझसे मारपीट की थी. इसके बावजूद पुलिस ने मेरे मुकदमे में फाइनल रिपोर्ट लगा दी.

वर्तिका सिंह ने कहा कि आज हमें न्याय मिला है और अब इकबाल अंसारी के खिलाफ जिन बिंदुओं की जांच नहीं हुई थी उसकी दोबारा जांच होगी. अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह ने अपने वकील रोहित त्रिपाठी के माध्यम से सिविल जज सीनियर डिवीजन अदालत में धारा 156/3 के तहत एक नया प्रार्थना पत्र दिया था. उस बिंदुओं की जांच की मांग की थी जिस बिंदुओं पर पुलिस ने जांच नहीं की.



पुलिस पर लगाया आरोप
वर्तिका सिंह के वकील रोहित त्रिपाठी ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि 19 सितंबर 2019 को  मुवक्किल वर्तिका सिंह ने थाना राम जन्मभूमि में इकबाल अंसारी समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. लेकिन पुलिस ने आरोपी को ही गवाह बनाया और वर्तिका सिंह के भाई जो इनके साथ में थे उनका बयान नहीं लिया. पुलिस की विवेचना में खामियां हैं. इसको लेकर आज धारा 156/3 के तहत एक नया प्रार्थना पत्र दिया गया था ताकि उन बिंदुओं पर दोबारा जांच हो सके जिन बिंदुओं पर पुलिस ने जांच नहीं की है.



ये भी पढ़ें: PHOTOS: मिट्टी के बर्तन में चखें बनारस का स्वाद, देसी स्टाइल का खाना विदेशों में भी फेमस

दरअसल, सितंबर 2019 में वर्तिका सिंह ने अयोध्या पहुंचकर इकबाल अंसारी से मुलाकात की थी. मुलाकात के दौरान कहासुनी के बाद हल्की धक्का-मुक्की भी हुई थी. इसके बाद वर्तिका सिंह ने आरोप लगाया था कि मुलाकात के दौरान इकबाल अंसारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अभद्र टिप्पणी की थी. इकबाल अंसारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाना राम जन्मभूमि में तहरीर दिया था, लेकिन जब थाने में मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो वर्तिका सिंह ने धारा 156/3 तहत कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था. इसके बाद न्यायालय के आदेश पर 19 सितंबर 2019 को इकबाल अंसारी समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसमें थाना राम जन्मभूमि पुलिस ने फाइनल रिपोर्ट लगा दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज