अयोध्या में दीपोत्सव-2018 का आगाज, Laos की रामलीला से होगी महोत्सव की शुरुआत

अयोध्या दीपोत्सव (फाइल फोटो)
अयोध्या दीपोत्सव (फाइल फोटो)

बता दें 6 नवंबर को दीपोत्सव-2018 का मुख्य आयोजन होना है. इस इस दौरान राम की पौड़ी, गुप्तार घाट और नए घाट को 3 लाख दियों की रोशनी से जगमग किया जाएगा.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के अयोध्या में दीपोत्सव 2018 का आगाज रविवार से होने जा रहा है. तीन दिन चलने वाले इस महोत्सव की शुरुआत लाओस की रामलीला से होगी. अवध विश्वविद्यालय परिसर में शाम 5 बजे से ये रामलीला शुरू होगी. इस दौरान कोरिया, रूस, इंडोनेशिया, त्रिनिदाद और टोबैगो से आए कलाकार भी महोत्सव में शामिल होंगे. इस दौरान 6 देशों के कलाकार महोत्सव में राम की लीलाओं का मंचन करेंगे.

बता दें 6 नवंबर को दीपोत्सव-2018 का मुख्य आयोजन होना है. इस इस दौरान राम की पैड़ी, गुप्तार घाट और नए घाट को 3 लाख दियों की रोशनी से जगमग किया जाएगा. दावा है कि 40 मिनट तक 3 लाख दीयों के जलने का यहां वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनेगा. दीपोत्सव के बाद राम की पौड़ी पर लेजर वॉटर शो आयोजित होगा. पहली बार अयोध्या में वाटर शो राम की लीलाएं दिखाई जाएंगीं.

उधर आयोजन को भव्य बनाने में यूपी सरकार के आधा दर्जन विभाग जुटे हुए हैं. इनमें पर्यटन, संस्कृति, नगर विकास, ऊर्जा समेत अवध यूनिवर्सिटी को भी आयोजन का जिम्मा सौंपा गया है. दीपोत्सव के मुख्य पर्व में शामिल होने सीएम योगी के साथ यूपी और बिहार के राज्यपाल समेत कई केंद्रीय मंत्री पहुंचेंगे. इस दौरान साउथ कोरिया की फर्स्ट लेडी किम जोंग सूक मुख्य अतिथि होंगीं.



दीपोत्सव के मौके पर सीएम योगी अयोध्या से जुड़ी कई विकास योजनाओं की शुरुआत करेंगे. इस दौरान सीएम योगी साउथ कोरिया की महारानी के स्मारक क्वीन हू मेमोरियल पार्क की आधारशिला भी रखेंगे. माना जा रहा है कि इसी दौरान सीएम योगी सरयू किनारे भगवान राम की 151 मीटर ऊंची प्रतिमा लगाने की घोषणा भी करेंगे.
ये भी पढ़ें: 

यूपी में संगठन की फौज से विपक्ष की राजनीति 'कुंद' करने की तैयारी में बीजेपी

भगवान राम के नाम पर एक दीपक जरूर जलाएं, काम जल्द होगा: सीएम योगी

बीजेपी सांसद का सरकार पर व्यंग्य, तारीख नहीं बताएंगे लेकिन राम मंदिर के नाम पर लेंगे वोट

सिद्वार्थनगर: दुर्घटनाओं को रोकने के लिए छुट्टा पशुओं के गले में डाली रेडियम की पट्टी

डॉक्‍टर अब कंप्‍यूटर से टाईप कर कोर्ट भेजेंगे 'मेडिको लीगल' रिपोर्ट: HC
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज