उत्तर प्रदेश

IPL सट्टेबाजी के मामले में अयोध्या पुलिस को बड़ी कामयाबी, 15 लाख रुपए के साथ दो सट्टेबाज गिरफ्तार

गिरफ्तार सट्टेबाजों के तार दिल्ली और लखनऊ से जुड़े हैं.
गिरफ्तार सट्टेबाजों के तार दिल्ली और लखनऊ से जुड़े हैं.

Ipl Betting: डीआईजी कम एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि इन सटोरियों के तार अयोध्या के साथ- साथ लखनऊ व दिल्ली जैसे बड़े शहरों तक जुड़े हुए हैं.

  • Share this:
फैजाबाद. आईपीएल सट्टेबाजी (Ipl Betting) के मामले में अयोध्या पुलिस (Ayodhya Police) को अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी मिली. पुलिस ने 15 लाख रुपए के साथ दो सटोरियों को गिरफ्तार किया. सटोरियों के तार लखनऊ व दिल्ली से जुड़े हुए हैं. दिल्ली में रहकर सटोरिया गैंग अयोध्या में आईपीएल सट्टेबाजी के नाम पर करोड़ों का वारा न्यारा कर रहे थे.

पिछले कई हफ्तों से अयोध्या पुलिस सटोरियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है. रविवार को उस कड़ी में बड़ी कामयाबी हासिल हुई. छापेमारी में कोतवाली नगर थाने की पुलिस ने दो सट्टेबाजों को 15 लाख रुपए के साथ धर दबोचा.

पुलिस की इस सफलता से खुश होकर जिले के डीआईजी कम एसएसपी दीपक कुमार ने प्रशिक्षु आईपीएस सीओ सिटी निपुण अग्रवाल को प्रशस्ति पत्र देते हुए इस ऑपरेशन में शामिल कोतवाली थाने की पुलिस टीम को 10 हजार रुपये का इनाम देने का ऐलान किया.



दरअसल कोतवाली पुलिस ने सूचना मिलते ही नाका ओवरब्रिज के पास छापेमारी की. वहां पहले से सट्टेबाजी का खेल चल रहा था. पुलिस ने मौके से दो लोग दबोचा लिया. इनके पास से सट्टा पर्ची, दो मोबाइल, दो रजिस्टर व एक मोटर साइकिल के अलावा 15 लाख रुपये नगद जब्त किये गये.
डीआईजी कम एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि इन सटोरियों के तार अयोध्या के साथ- साथ लखनऊ व दिल्ली जैसे बड़े शहरों तक जुड़े हुए हैं. गिरफ्तार सटोरियों की पहचान सोनू उर्फ रवि कुमार निवासी रामनगर कोतवाली नगर और वसीम अहमद निवासी ख्वाजा इन्क्लेव खालसा थाना आशियाना लखनऊ के रूप में हुई है. दोनों सटोरियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज