मुसलमानों को अयोध्या की जमीन हिंदुओं को दे देनी चाहिए: मौलाना सादिक

News18Hindi
Updated: August 13, 2017, 12:56 PM IST
मुसलमानों को अयोध्या की जमीन हिंदुओं को दे देनी चाहिए: मौलाना सादिक
मौलाना ने कहा, अगर फैसला मुसलामानों के हक़ में न आए तो मुसलमान को इस फैसले का स्वागत करना चाहिए. file photo: PTI
News18Hindi
Updated: August 13, 2017, 12:56 PM IST
सुप्रीम कोर्ट में चल रहे अयोध्या मामले की सुनवाई के बीच शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे सादिक ने एक बार फिर विवादित ज़मीन को हिंदुओं को देने की अपील की है. मुंबई में एक प्रोग्राम के दौरान उन्होंने कहा, अगर विवादित जमीन को लेकर फैसला मुसलमानों के पक्ष में न भी आए तो उन्हें इसका कोई विरोध नहीं करना चाहिए.

मौलाना सादिक ने  कहा, "बाबरी मस्जिद मामला सुप्रीम कोर्ट में है. अगर फैसला मुसलामानों के हक़ में न आए तो मुसलमान को इस फैसले का स्वागत करना चाहिए, कोई प्रोटेस्ट न करें. और अगर फैसला मुसलमान के हक़ में आ जाए तो मुसलामानों को बाबरी मस्जिद की ज़मीन हिंदुओं को दे देना चाहिए."

सादिक पहले भी ऐसा बयान दे चुके हैं. उनके बयान की तारीफ केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने की. उन्होंने कहा, मौलाना सादिक ने हमारा दिल जीत लिया है. भगवान राम किसी एक के नहीं हैं. वह भारत की आत्मा हैं.



हिंदुओं के पक्ष में सादिक के बयान से पहले शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा डालकर राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद को नया मोड़ दे दिया है. शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी द्वारा दाखिल हलफनामे में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की जगह उसे पक्षकार बनाने की मांग की गई. यही नहीं इस अर्जी में विवाद को सुलझाने का फॉर्मूला भी सुझाया गया है.



क्या है फ़ॉर्मूला 
फ़ॉर्मूले के तहत विवादित स्थल हिन्दुओं को राम मंदिर निर्माण के लिए दे दिया जाए और अयोध्या में ही मस्जिद बनाने के लिए मुस्लिमों को दूसरी जगह दी जाए. शिया वक्फ बोर्ड ने दावा किया है कि वह विवादित स्थल सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की नहीं, बल्कि शिया वक्फ बोर्ड मिल्कियत है.

यह भी दावा किया गया है कि बाबर की लिखी किताब में भी इस मस्जिद का कोई जिक्र नहीं है. अर्जी में कहा गया है कि जो विवादित स्थल बाबरी मस्जिद के नाम से जाना जाता है, दरअसल, वह वक्फ मस्जिद मीर बकी है. जो बाबर के समय में मीर बकी द्वारा बनवाई गई शिया मस्जिद थी.

ये भी पढ़ें- 

अयोध्या विवाद पर 6 साल बाद आज फिर शुरु होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

शिया वक्फ बोर्ड का अयोध्या फॉर्मूला: विवादित स्थल पर बने मंदिर, मस्जिद के लिए मिले दूसरी जगह
First published: August 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर