लाइव टीवी

लोकसभा चुनाव: फैजाबाद के इस गांव में लोगों ने किया ऐलान, 'नोटा में देंगे वोट'
Faizabad News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 9, 2019, 8:49 PM IST
लोकसभा चुनाव: फैजाबाद के इस गांव में लोगों ने किया ऐलान, 'नोटा में देंगे वोट'
समस्या को लेकर प्रदर्शन करते गांववाले

मामला फैज़ाबाद लोकसभा क्षेत्र के चांदपुर हरबंस, गंजा और मलिकपुर गांव का है, जहां पर लगभग आठ हजार मतदाताओं ने चुनाव में नोटा के प्रयोग की धमकी दी है.

  • Share this:
अयोध्या रामजन्मभूमि की सुरक्षा में लगे सीआरपीएफ के जवान अब स्थानीय ग्रामीणों के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं. फैजाबाद लोकसभा क्षेत्र में सीआरपीएफ जवानों से परेशान, प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की उपेक्षात्मक कार्यशैली से नाराज सैकड़ों ग्रामीणों ने इस लोकसभा चुनाव में नोटा प्रयोग करने का निर्णय लिया है. ऐसा नहीं है कि इन ग्रामीणों को लोकतंत्र के महापर्व में विश्वास नहीं है. ग्रामीणों के अंदर लोकतंत्र में अगाध विश्वास और लोकसभा चुनाव के महापर्व में शामिल होने का जज्बा भी है, लेकिन गांव की समस्या कुछ ऐसी है कि समूचे गांव ने किसी भी प्रत्याशी को मत ना देकर नोटा का बटन दबाने का निर्णय लिया है.

मामला फैज़ाबाद लोकसभा क्षेत्र के चांदपुर हरबंस, गंजा और मलिकपुर गांव का है, जहां पर लगभग आठ हजार मतदाताओं ने चुनाव में नोटा के प्रयोग की धमकी दी है. दरअसल ग्रामीणों की समस्या सीआरपीएफ कैंप से है. जिसे गांव से लगी बड़ी भूमि आवंटित की गई है. सीआरपीएफ के भूमि अधिग्रहित करने को लेकर ग्रामीण आशंकित हैं कि इससे गांव से पानी बहने का नाला और आसपास के हजारों ग्रामीणों का आवागमन भी बाधित हो जाएगा, जिसके लक्षण दिखने लगे हैं. साथ ही साथ इससे जुड़ी गांववासियों के रोजमर्रा की तमाम समस्याएं भी गहरा गई हैं.

अपनी समस्याओं को लेकर गांववासियों ने जिला प्रशासन से लेकर उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार तक के दरवाजे खटखटाए, वर्तमान सांसद और विधायक से मिले, लेकिन राहत तो दूर समस्या को समझने भी कोई नहीं आया. इसलिए समस्या से घिरे गांव वासियों ने मतदान करने का निर्णय तो लिया है, लेकिन सभी ने किसी भी प्रत्याशी को वोट ना देकर, नोटा का बटन दबाने का निर्णय लिया है.



स्थानीय ग्रामीण ने इंद्रदेव पांडे ने सीआरपीएफ के जवानों पर अभद्रता, गाली गलौज का भी आरोप लगाया है. इंद्रदेव पांडे का कहना है कि आए दिन सीआरपीएफ के जवान गाली-गलौज करते हैं. इससे बच्चों पर बुरा असर पड़ रहा है. वहीं द्वारिकाधीश सिंह का कहना है कि गांव के बाहर की सीआरपीएफ के जवानों का कैंप लगने से हमें तमाम तरह की समस्याएं हो रही हैं. गंदा पानी गांव से नाले के जरिए बाहर निकल जाता था, जो अब अवरुद्ध हो रहा है. कैंप को लेकर कई बार शिकायत भी की लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई.



(रिपोर्ट- के बी शुक्ला)

ये भी पढ़ें--

उन्नाव लोकसभा सीट: सपा ने पूजा पाल का टिकट काटा, अब अन्ना महाराज देंगे साक्षी महाराज को चुनौती

लोकसभा चुनाव: फैजाबाद के इस गांव में लोगों ने किया ऐलान, 'नोटा में देंगे वोट'

महाराष्ट्र में कांग्रेस-NCP पर भारी पड़ेगी BJP-शिवसेना की 'दोस्ती', मिलेंगी इतनी सीटें: सर्वे

साहब! विरोधियों से नहीं अपने ही 'नाम' से चुनाव में लगता है डर

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2019, 8:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading