Home /News /uttar-pradesh /

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में मंदिर-मस्जिद समझौते की एक और पहल

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में मंदिर-मस्जिद समझौते की एक और पहल

मुस्लिम पक्षकारों में श्रीश्री रविशंकर को लिखा पत्र. Photo: News 18

मुस्लिम पक्षकारों में श्रीश्री रविशंकर को लिखा पत्र. Photo: News 18

अयोध्या केस में मुस्लिम पक्षकारों द‌्वारा यह पत्र श्रीश्री रविशंकर के प्रतिनिधि गौतम को सौंपा गया है. जो उसे ले जाकर श्रीश्री को देंगे और इसके बाद राम मंदिर बाबरी मस्जिद समझौते की एक और कोशिश शुरू हो जाएगी.

    सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में मंदिर-मस्जिद समझौते की एक और पहल शुरू हो गई है. यह पहल बाबरी मस्जिद के पक्षकार हाजी महबूब और मोहम्मद उमर के साथ श्रीश्री रविशंकर के प्रतिनिधि गौतम बिज के बीच शुरू हुई है. दोनों मुस्लिम पक्षकारों और कुछ मुस्लिम उलेमा ने बाकायदा पत्र लिखकर श्रीश्री रविशंकर के प्रयासों की सराहना करते हुए साथ होने की बात कही है.

    यह पत्र श्रीश्री रविशंकर के प्रतिनिधि गौतम को सौंपा गया है. जो उसे ले जाकर श्रीश्री को देंगे और इसके बाद राम मंदिर बाबरी मस्जिद समझौते की एक और कोशिश शुरू हो जाएगी. हाजी महबूब के लेटर पैड पर पत्र में लिखा है कि श्रीश्री रविशंकर के अयोध्या मुद्दे को आपसी भाईचारे से हल करने के प्रयासों से हम भली-भांति परिचित है. हमारा मानना है कि अयोध्या मुद्दे का अदालत से बाहर किया गया, फैसला हिंदू और मुसलमानों के बीच एक लंबे समय तक शांति सौहार्द कायम कर सकता है. हम उनके प्रयासों की प्रशंसा करते हैं और पूर्ण रूप से उनका समर्थन करते हैं.

    बाबरी मस्जिद के पक्षकार हाजी महबूब ने कहा कि श्रीश्री रविशंकर के ख्याल उन्हें अच्छे लगे हैं. उन्हें लगा कि अगर सुलह की पहल की जाए तो इसमें बुरा कुछ नहीं है. कोर्ट क्या फैसला करता है, हम उसका सम्मान करते हैं. अगर श्रीश्री रविशंकर सही ढंग से काम करते हैं तो सभी मुसलमान उनके साथ हैं. उन्होंने कहा कि पक्षकारों में वह खुद हैं, इसके अलावा मोहम्मद उमर भी उनके साथ हैं. हाशिम अंसारी और इकबाल अंसारी भी साथ रहेंगे. अगर कोई बेहतर कार्य होता है तो सभी काम करेंगे.

    गौतम विज कहते हैं कि श्रीश्री रविशंकर का मानना है कि कोर्ट दिलों को एक साथ नहीं ला सकता है. अगर कोर्ट के बाहर आपसी समझ से ये मसला हल होगा तो देश के दो बड़े समुदायों में लंबे समय तक सौहार्द कायम होगा. उसी कड़ी में हाजी महबूब और मोहम्मद उमर का यह पहला कदम है. हम इसका स्वागत करते हैं.

    (रिपोर्ट: निमिष गोस्वामी)

    ये भी पढ़ें: 

    रायबरेली: बीजेपी के पूर्व विधायक सहित 15 लोगों पर गैंगरेप का आरोप, FIR

    काशी को मिली जल परिवहन की सौगात, पीएम मोदी ने किया इनलैंड वाटर वेज टर्मिनल का लोकार्पण

    Fake News पर बोले अखिलेश- व्हाट्सएप पर मेरे द्वारा पिता को पीटने की फैलाई गई थी अफवाह

    अब लखनऊ का नवाब वाजिद अली शाह चिड़ियाघर होगा अटल के नाम!

    Tags: Ayodhya Land Dispute, Ayodhya Mandir, Babri Masjid Demolition Case, Faizabad news, Up news in hindi, Uttarpradesh news, फैजाबाद

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर