राम मंदिर पर PM मोदी के बयान का इकबाल अंसारी ने किया स्वागत

राम मंदिर पर पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर अयोध्या से संतो और पक्षकारों की प्रक्रिया आई है. मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी व मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने मोदी के बयान का स्वागत किया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 1, 2019, 10:56 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: January 1, 2019, 10:56 PM IST
राम मंदिर पर पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर अयोध्या से संतो और पक्षकारों की प्रक्रिया आई है. मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी व मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने मोदी के बयान का स्वागत किया है. तो वहीं दूसरी तरफ रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास मोदी के बयान से असहमत दिखे.

आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि भाजपा राम मंदिर मामले पर अपने वादों से मुकर रही है और इसका फैसला कुंभ मेले में होगा. संतों का फैसला अगर मोदी के विरोध में गया, तो 2019 भाजपा के लिए कठिन होगा. मोदी के बयान की तारीफ करते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला ही मान्य होगा.

दूसरी तरफ मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से उनकी चर्चा हुई थी. उन्होंने कहा था कि अगर सुप्रीम कोर्ट की कानूनी प्रक्रिया के पहले मंदिर पर अध्यादेश आता है, तो अध्यादेश फंस सकता है. इसलिए मोदी के बयान से वे सहमत हैं.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर विवाद पर पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने एएनआई को दिए अपने इंटरव्यू में कहा कि राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट की कार्रवाई से पहले अध्यादेश लाना संभव नहीं है. राम मंदिर पर कोर्ट के फैसले का इंतजार करना होगा. (रिपोर्ट- के बी शुक्ला)

ये भी पढ़ेंं: सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बाबरी-राम मंदिर विवाद का निपटारा जल्द होना तय: फरंगी महली
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...