अयोध्या में 100 जर्जर मंदिरों को गिराने का नोटिस, संतों ने कहा- मरम्मत कराए सरकार

संत समाज के लोगों ने कहा कि ऐसे अत्यंत जर्जर मंदिर जिनको ढहया जाना बहुत आवश्यक है, उनकी मरम्मत सरकार कराए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 16, 2018, 11:17 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 16, 2018, 11:17 PM IST
अयोध्या में नगर निगम ने 100 से ज्यादा जर्जर मंदिरों को चिन्हित कर गिराने का नोटिस जारी किया है. हालांकि इन मंदिरों की स्थित अत्यंत दयनीय है. लेकिन मंदिरों को ढहाये जाने को लेकर संतों और अयोध्या के बुद्धिजीवियों ने अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दी हैं.

संत समाज के लोगों ने कहा कि ऐसे अत्यंत जर्जर मंदिर जिनको ढहाया जाना बहुत आवश्यक है, उनकी मरम्मत सरकार कराए. वहीं, कुछ संतों का कहना है कि इन मंदिरों को गिराए जाने के बजाए पुनर्निर्माण हो. कई संतों का मानना है कि मंदिर ढह जाने से सनातन धर्म को ठेस पहुंचेगी. साथ ही मंदिर गिराए जाने से सनातन धर्म की मर्यादा भी नष्ट होगी. संतों ने सरकार से मांग की है कि ऐसे मंदिरों का जीर्णोद्धार कराया जाए. सरकार एक बार इस पर विचार करें कि किस तरह से इन मंदिरों का जीर्णोद्धार हो.

बताते चलें कि ऐसे ही वाराणसी में भी पुरानी जर्जर मंदिरों को गिराया गया है.

सरकार का मानना है कि ऐसे जर्जर मंदिरों में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. हालांकि अयोध्या में पुरानी इमारत और मंदिरों को गिराने के लिए नगर निगम का नोटिस अब एक राजनीतिक मद्दा भी बनता जा रहा है. हाल ही में शहर के आम आदमी पार्टी के नेताओं ने भी इस पर ऐतराज जाहिर किए थे. उनका आरोप है कि बीजेपी प्राचीन हिन्दू पहचान को समाप्त करना चाहती है.

(रिपोर्ट-निमिष गोस्वामी )

ये भी पढ़ें: 

फाइनेंसर की गला काटकर हत्या, 4 आरोपी गिरफ्तार
Loading...

शिव सैनिकों ने PM मोदी से की मांग, अध्यादेश लाकर जल्द करें मंदिर का निर्माण

चाचा ने भतीजे को चाकू से गोदा, अस्पताल में भर्ती
First published: December 16, 2018, 8:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...