तोगड़िया के अयोध्या कूच पर पक्षकार बोले, 'कृपया सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करें'

पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा है कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है और दोनों पक्षों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि अयोध्या कूच करने और अनशन करने की धमकी देने वाले महंत मामले के पक्षकार नहीं है

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 1, 2018, 11:18 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 1, 2018, 11:18 PM IST
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगड़िया के अयोध्या कूच करने और अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास की आमरण अनशन को लेकर मंदिर मस्जिद पक्षकार इकबाल अंसारी की प्रतिक्रिया सामने आई है.

यह भी पढ़ें-मुलायम के बाद बाबरी मस्जिद को लेकर राष्‍ट्रपति ने किया ये बड़ा खुलासा

पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा है कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है और दोनों पक्षों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि अयोध्या कूच करने और अनशन करने की धमकी देने वाले महंत मामले के पक्षकार नहीं है. बकौल इकबाल अंसारी, अगर वे चाहते हैं कि मामले का हल निकले तो कृपया सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करें.

यह भी पढ़ें-राम मंदिर पर बोले तोगड़िया, एक सप्ताह में हो सकता है फैसला

रिपोर्ट के मुताबिक इकबाल अंसारी ने कहा कि अनशन करने से मंदिर-मस्जिद मामले का फैसला नहीं होगा. उन्होंने कहा कि प्रदेश में योगी की सरकार है और योगी की सरकार में इस तरह की हरकत करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. अंसारी ने कहा कि इस तरह की हरकत से भाजपा सरकार को नुकसान पहुंचाने और बदनाम करने की साजिशें हो रही हैं.

यह भी पढ़ें-अयोध्या में मंदिर के लिए 15 करोड़ देंगे ये मुस्लिम नेता, रामलला को पहनाएंगे सोने का मुकुट

वहीं, दूसरी तरफ हिंदू पक्षकार महंत धर्मदास ने कहा कि तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास आमरण अनशन करने के बजाय राम मंदिर के लिए हनुमान चालीसा का 10 हज़ार का पाठ करें. महंत धर्मदास नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि अनशन करने का काम साधुओं का नहीं, बल्कि नेताओं का है. उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करें और दोनों ही पक्ष सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानें.

गौरतलब है अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ नहीं होने पर आगामी 1 अक्टूबर को अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने आमरण अनशन की चेतावनी दी है. वहीं, दूसरी तरफ डा. प्रवीण तोगड़िया ने आगामी 21 अक्टूबर को राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या कूच का ऐलान किया है.

(रिपोर्ट-केबी शुक्ला, फैजाबाद)

पैसों की ज़रूरत है तो प्रॉपर्टी से ऐसे उठाएं फायदा!

अपने खाली फ्लैट से करें ये बिजनेस, कमाएं 70 हजार रुपए महीना

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर