राम जन्म भूमि: स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद का अयोध्या दौरा, संतो संग की बैठक

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 5, 2019, 11:51 PM IST
राम जन्म भूमि: स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद का अयोध्या दौरा, संतो संग की बैठक
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद

शंकराचार्य 21 फरवरी को अयोध्या आएंगे और राम जन्म भूमि के मंदिर के लिए शिलान्यास करेंगे. इसी के मद्देनजर मंगलवार को उनके उत्तराधिकारी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद अयोध्या पहुंचे.

  • Share this:
जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर ऐलान किया है. शंकराचार्य 21 फरवरी को अयोध्या आएंगे और राम जन्म भूमि के मंदिर के लिए शिलान्यास करेंगे. इसको देखते हुए मंगलवार को उनके उत्तराधिकारी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद अयोध्या पहुंचे और संतों के साथ बड़ा स्थान जानकी घाट में बैठक की है.

अयोध्या पहुंचे जगत गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के उत्तराधिकारी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि वे अयोध्या में 21 फरवरी को शिलान्यास के कार्यक्रम की तैयारियों के संदर्भ में जानकी घाट बड़ा स्थान पर बैठक की है. वहीं विश्व हिंदू परिषद के शिलान्यास के कार्यक्रम के विरोध पर बोलते हुए और मुक्तेश्वर आनंद ने कहा कि पूर्व में रामलला के मंदिर का जो शिलान्यास हुआ था, वह स्थान 192 फुट दूर हुआ है. उन्होंने कहा है कि उनके पास विश्व हिंदू परिषद का रिकॉर्ड बयान है. जिस में विश्व हिंदू परिषद ने कहा था कि उन्होंने सिंहद्वार का शिलान्यास किया है, ना कि रामलला के मंदिर का.

देश की न्यायपालिका, विधायिका और कार्यपालिका पर भी उन्होंने बोलते हुए कहा कि उनसे उम्मीदें थी लेकिन उन्होंने उपेक्षित किया है. राम मंदिर देश की जन भावनाओं का प्रश्न है. देश की जन भावनाओं का आदर करना चाहिए. उन्होंने कहा कि शिलान्यास पर कोई रोक नहीं है. देश की जनता चाहती तो राम मंदिर निर्माण में विलंब क्यों शिलान्यास शास्त्र सम्मत नहीं था. (रिपोर्ट-निमिष गिरि)

ये भी पढ़ें: निर्मोही अखाड़े का दावा, VHP और राम जन्मभूमि न्यास मंदिर मामले में पक्षकार नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2019, 11:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...