राम मंदिर: निर्माही अखाड़ा ने VHP पर साधा निशाना, कहा-हिंदुओं के साथ कर रही है छलावा

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 31, 2019, 7:43 PM IST

श्री राम लला के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का कहना है कि अखाड़ा परिषद के धर्म संसद से अलग होने पर धर्म संसद कमजोर हुआ है.

  • Share this:
प्रयागराज कुंभ में विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित धर्म संसद का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा बहिष्कार किया गया है. वीएचपी द्वारा राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार पर दबाव बनाने को लेकर आयोजित धर्म संसद पर अयोध्या से भी संतों की प्रतिकूल प्रक्रिया आई है. राम जन्म भूमि के हिंदू पक्षकार निर्मोही अखाड़ा ने भी अखाड़ा परिषद का समर्थन किया है.

निर्मोही अखाड़ा के प्रवक्ता प्रभात सिंह का कहना है कि मसला सुप्रीम कोर्ट में है. सुप्रीम कोर्ट इस पर जो भी निर्णय देना वह अब माना जाएगा. उन्होंने कहा कि विश्व हिंदू परिषद जन्म भूमि पर आयोजित कार्यक्रमों में निर्मोही अखाड़ा को ना ही कभी बुलाती है और ना ही बुलाया है. ऐसे में विश्व हिंदू परिषद का अखाड़ा परिषद ने बहिष्कार किया है तो धर्म संसद का कोई औचित्य नहीं रह गया है.



प्रभात सिंह ने विहिप पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह हिंदुओं के साथ छलावा कर रही है. वहीं श्री राम लला के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का कहना है कि अखाड़ा परिषद के धर्म संसद से अलग होने पर धर्म संसद कमजोर हुआ है. क्योंकि अखाड़ा परिषद से कई सारे संत जुड़े हुए हैं. धर्म संसद में अखाड़ा परिषद के रहना जरूरी था. अब अखाड़ा परिषद के निर्णय से  सरकार पर उसका असर कम होगा,  जिससे वह भविष्य में वह सरकार पर दबाव नहीं बना पाएगी.  (रिपोर्ट-निमिष गोस्वामी)

ये भी पढ़ें: राम मंदिर विवाद: 67 एकड़ जमीन वापस करने की अपील, इस ताजा कदम के क्या हैं मायने

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 31, 2019, 5:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...