राम मंदिर: अयोध्या के विवादित परिसर में मौजूद 12 मंदिरों में क्यों नहीं होती पूजा?
Faizabad News in Hindi

राम मंदिर के लिए अधिग्रहित विवादित परिसर में 12 मंदिर अभी भी मौजूद हैं. अधिग्रहित परिसर के मंदिरों में रामलला के दानपात्र में आने वाली धनराशि से पूजा होती थी, लेकिन 1995 में हाईकोर्ट के आदेश के कारण इन मंदिरों में पूजा-पाठ बंद कर दी गई.

  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार की याचिका के बाद अयोध्या में राम मंदिर के लिए अधिग्रहित विवादित परिसर के 67 एकड़ में मौजूद 12 मंदिरों के पुनरुद्धार की उम्मीद बढ़ गई है. अधिग्रहित होने के बाद इन मंदिरों में पूजा-अर्चना बंद हो गई थी. 1995 तक अधिग्रहित परिसर के 4 मंदिरों में पूजा अर्चना होती थी जिसकी व्यवस्था रामलला के दानपात्र में आने वाली धनराशि से होती थी, लेकिन 1995 में हाईकोर्ट की रोक के बाद इन चार मंदिरों में भी पूजा-अर्चना बंद हो गई.

जिस रामलला के मंदिर के निर्माण के लिए अयोध्या समेत पूरे देश में हो-हल्ला हो रहा है, उसी अधिग्रहित परिसर में मौजूद एक दर्जन मंदिरों में पूजा-पाठ नहीं हो रही है. रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास की माने, तो इन मंदिरों में प्रतिष्ठित मूर्तियां निष्प्राण हो गई हैं.

अधिग्रहित परिसर के 4 मंदिरों साक्षी गोपाल, शेषावतार, सीता रसोई व मानस भवन मंदिर में पूजा अर्चना होती थी जिसका खर्च रामलला के दानपात्र में आने वाली धनराशि से उठाया जाता था, लेकिन एक याचिका पर हाईकोर्ट ने रामलला के दानपात्र में आने वाली धनराशि के कहीं अन्यत्र खर्च करने पर रोक लगा दी. इसके बाद 1995 में इन मंदिरों में भी पूजा-अर्चना बंद हो गई.



इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आदेश दिया था कि रामलला के दानपात्र में आने वाली धनराशि कहीं अन्यत्र खर्च नहीं होगी जिसके बाद ये सभी मंदिर सूने हो गए. इन मंदिरों में घंटिया बजना बंद हो गईं. आरती पूजा-पाठ सब पर रोक लग गई, लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार की याचिका के बाद जो अधिग्रहित जमीन है उसे राम जन्म भूमि न्यास को वापस किए जाने की संभावना है.



केंद्र सरकार की इस याचिका के बाद अगर सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार की याचिका को मंजूर कर लेता है तो इन मंदिरों के पुनरुद्धार की उम्मीद बढ़ जाएगी, हालांकि अधिग्रहित परिसर में मौजूद कुछ ऐसे भी मंदिर है जिनके मालिक सरकार से मुआवजा लेकर विवादित परिसर से दूर हट गए हैं.

रिपोर्ट – केबी शुक्ला

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading