'मिशन मोदी अगेन पीएम' के लिए अयोध्या से निकलेगी रथयात्रा, 350 लोकसभा क्षेत्रों से गुजरेगी

राम जन्मभूमि न्यास सदस्य महंत राम विलास दास वेदांती की अगुवाई में निकलने वाली रथ यात्रा 8 राज्यो से होकर 350 लोकसभा क्षेत्रों तक पहुंचेगी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 7, 2018, 6:18 PM IST
'मिशन मोदी अगेन पीएम' के लिए अयोध्या से निकलेगी रथयात्रा, 350 लोकसभा क्षेत्रों से गुजरेगी
अवध प्रांत प्रभारी, 'मिशन मोदी अगेन पीएम' राघवेशदास महाराज
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 7, 2018, 6:18 PM IST
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 22 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक श्रीराम अश्वमेध महायज्ञ यज्ञ का आयोजन होगा इसके लिए तैयारियां भी शुरू हो गई हैं. साथ ही अश्वमेघ यज्ञ के समापन के बाद 'मिशन मोदी अगेन पीएम' के लिए भव्य रथयात्रा निकाली जाएगी जो 350 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी. यह रथयात्रा सबसे पहले पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएगी.

यह रथयात्रा 'मिशन मोदी अगेन पीएम' के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास दास वेदांती के सानिध्य में निकलेगी. यात्रा का मकसद नरेंद्र मोदी को 2019 में फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए सरकार की कार्य योजनाओं को जनता तक पहुंचाने का है. 24 अक्टूबर को अयोध्या से निकलने वाली रथ यात्रा को लेकर बैठकों का दौर जारी है.

राम जन्मभूमि न्यास सदस्य महंत राम विलास दास वेदांती की अगुवाई में निकलने वाली रथ यात्रा 8 राज्यों  से होकर 350 लोकसभा क्षेत्रों तक पहुंचेगी. यात्रा का मकसद नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाना है और ये बड़ी जिम्मेदारी देश के कई बड़े संतों ने उठा ली है. यही नहीं 108 दिनों तक चलते वाली रथयात्रा से पहले अयोध्या में तीन दिवसीय श्रीराम अश्वमेघ यज्ञ भी होना है. जिसका मकसद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कराना है और साथ ही विपक्षी पार्टियों के संभावित महागठबंधन को नाकाम भी करना है.

इस यात्रा के बीच कई पड़ाव होंगे. इस यात्रा में पूर्व सांसद व महंत राम विलास वेदांती, तुलसी पीठाधीश्वर श्रीराम भद्राचार्य, काशी पीठाधीश्वर नरेंद्रानंद सरस्वती महाराज, जगदगुरू वासुदेवानंद सरस्वती समेत कई साधु संत शामिल होंगे.

अवध प्रांत प्रभारी, 'मिशन मोदी अगेन पीएम' राघवेशदास महाराज ने कहा कि इसका उद्देश्य एक बार फिर से नरेंद्र मोदी को गद्दी पर बैठाना है. इसके लिए साधु-संतों ने कमर कस ली है. यह यात्रा हिंदी भाषी प्रदेशों उत्तर प्रदेश, बिहार झारखण्ड, मध्यप्रदेश, उत्तरखंड हिमाचल प्रदेश से होकर गुजरेगी.
(रिपोर्ट: निमिष गोस्वामी) 

ये भी पढ़ें:

शाहजहांपुर: हाईवे पर लखनऊ की युवती के साथ चलती कार में गैंगरेप

लखनऊ में पेट्रोल 80 पार, कांग्रेस ने 10 सितम्बर को बुलाया भारत बंद

जौनपुर: पूरे गांव का कराया धर्म परिवर्तन, 271 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पादरी फरार

बिहार में पिट गए यूपी के दरोगा, शराब तस्करों का कर रहे थे पीछा
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर