लाइव टीवी

यूपी पुलिस से नाराज संत स्वामी परमहंस दास ने ली कोर्ट की शरण

KB Shukla | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 10, 2019, 4:11 PM IST
यूपी पुलिस से नाराज संत स्वामी परमहंस दास ने ली कोर्ट की शरण
इस मामले में संत स्वामी परमहंस दास पहुंचे कोर्ट

हाजी महबूब ने यह भी कहा था कि अगर फैसला राम मंदिर (Ram Mandir) के पक्ष में आया तो वह एक ईंट भी विवादित स्थल पर हिंदुओं (Hindu) को नहीं रखने देंगे.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) से निराश तपस्वी छावनी के संत स्वामी परमहंस दास ने अब कोर्ट की शरण ली है. बाबरी मस्जिद मामले के मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने के लिए स्वामी परमहंस दास ने जेएम द्वितीय न्यायालय में धारा 156/3 के तहत याचिका दाखिल की है. इस मामले में सुनवाई अब 14 अक्टूबर को होगी.

मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने के लिए स्वामी परमहंस दास ने थाना राम जन्मभूमि में तहरीर दी थी.  इसके लिए स्वामी परमहंस दास ने अनशन भी किया था लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया जिसके बाद परमहंस को न्यायालय की शरण लेनी पड़ी. दरअसल एक निजी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब में स्वीकार किया था कि 6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों पर बम फेंका गया था.

यही नहीं हाजी महबूब ने यह भी कहा था कि अगर फैसला राम मंदिर के पक्ष में आया तो वह एक ईंट भी विवादित स्थल पर हिंदुओं को नहीं रखने देंगे. जिसके बाद इस स्टिंग ऑपरेशन की वीडियो के आधार पर स्वामी परमहंस दास ने मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाना राम जन्मभूमि तहरीर दी थी और मुकदमा दर्ज कराने के लिए अनशन भी किया था. लेकिन जब स्वामी परमहंस दास की पुलिस ने नहीं सुनी तो उन्हें मजबूर होकर न्यायालय की शरण में जाना पड़ा.

ये भी पढ़ें: 

मोर्चे पर बीजेपी संगठन और योगी सरकार, ट्विटर पर ही दिख रहा विपक्ष

पुष्पेंद्र एनकाउंटर पर बोले अखिलेश यादव, UP में रामराज नहीं 'नाथूराम राज' है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 4:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...