राममंदिर निर्माण में टाटा कंस्ट्रक्शन करेगी सहयोग! बैठक में शामिल हुए कंपनी के इंजीनियर्स

टाटा कंस्ट्रक्शन की भूमिका को लेकर फिलहाल ट्रस्ट के लोग कुछ भी नहीं बोल रहे हैं.
टाटा कंस्ट्रक्शन की भूमिका को लेकर फिलहाल ट्रस्ट के लोग कुछ भी नहीं बोल रहे हैं.

राममंदिर (Ram Mandir) निर्माण को लेकर शनिवार को भी बैठक होगी, जिसमें टाटा कंस्ट्रक्शन के अलावा एलएंडटी के भी इंजीनियर्स भी शामिल होंगे.

  • Share this:
फैजाबाद. अयोध्या स्थित सर्किट हाउस में शुक्रवार को राममंदिर (Ram Mandir) निर्माण समिति की बैठक संपन्न हुई. बैठक की अध्यक्षता समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने की. बैठक को लेकर सबसे बड़ी बात ये रही कि टाटा कंस्ट्रक्शन (Tata Construction) के इंजीनियर भी इसमें शामिल हुए. यह पहली बैठक थी, जिसमें टाटा के इंजीनियर शामिल हो रहे थे.

ऐसी संभावना है कि टाटा कंस्ट्रक्शन राममंदिर निर्माण में शामिल हो सकता है. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट निर्माण में टाटा कंस्ट्रक्शन का सहयोग ले सकता है. हालांकि ट्रस्ट के सदस्य इस पर फिलहाल खुलकर कुछ बोले नहीं रहे हैं.

बैठक संपन्न होने के बाद ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा ने कहा कि बैठक में राम मंदिर निर्माण के कार्य प्रगति पर चर्चा हुई. समिति चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने मंदिर निर्माण संबंधी जानकारियां लीं. इसके साथ ही बैठक में मौजूद विभिन्न विशेषज्ञों से राय भी ली गयी. बैठक में राम मंदिर की आयु 1000 वर्ष को लेकर भी चर्चा हुई, ताकि मंदिर मजबूत बने और इसकी आयु 1000 वर्ष हो.



अनिल मिश्रा ने कहा कि मंदिर की आयु लंबी हो, सुंदर और भव्य मंदिर बने इस पर भी चर्चा हुई. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को आईआईटी चेन्नई की रिपोर्ट का इंतजार है. जिसमें राम मंदिर नींव में डाले गए तीनों पिलर्स की मजबूती की रिपोर्ट आनी है. इस रिपोर्ट के बाद ही राम मंदिर निर्माण की अगली कड़ी शुरू होगी.


कल भी होगी बैठक 

सर्किट हाउस में शनिवार को भी बैठक होगी, जिसमें टाटा कंस्ट्रक्शन के इंजीनियर व एलएंडटी के इंजीनियर भी शामिल होंगे. राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र तीन दिन के अयोध्या दौरे पर हैं. इस दौरान वो राम मंदिर निर्माण को लेकर विभिन्न पहलुओं पर चर्चा कर रहे हैं. बैठक से पूर्व उन्होंने राम जन्मभूमि परिसर पहुंचकर नींव में डाले गए तीनों पिलर्स का भी निरीक्षण किया.

बैठक में नृपेंद्र मिश्र के अलावा ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय, सदस्य अनिल मिश्रा, अयोध्या राजा विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र भी शामिल हुए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज