संत परमहंस का दावा- जब तक राम मंदिर नहीं बनता सिर्फ गंगा जल पीकर करेंगे तपस्या

अयोध्या में तपस्वी छावनी के संत परमहंस दास ने कहा है कि जब तक राम मंदिर नहीं बन जाता वो सिर्फ गंगाजल पीकर तपस्या करेंगे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 11, 2019, 11:04 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: January 11, 2019, 11:04 PM IST
अयोध्या में तपस्वी छावनी के संत परमहंस दास राम मंदिर निर्माण को लेकर एक नया प्रण लिया है. परमहंस दास ने कहा कि वो राम मंदिर निर्माण के लिए गंगा जल पी कर तपस्या करेंगे. पहले भी संत परमहंस राम मंदिर के लिए आमरण अनशन का प्रयास कर चुके हैं, जिसके बाद पुलिस को उन्हें जबरन उठाकर लखनऊ पीजीआई में भर्ती कराना पड़ा था.

इस बार संत परमहंस ने अयोध्या से प्रयागराज कुंभ में जाने के लिए बैलगाड़ी का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा कि बैलगाड़ी हमारी पुरानी परंपरा है और वह कुंभ बैलगाड़ी से जाएंगे. संत परमहंस राम मंदिर निर्माण के लिए तरह-तरह के की प्रतिज्ञा करते रहते हैं. ऐसे ही उन्होंने आत्मदाह करने का ऐलान कर अपनी चिता सजानी शुरू कर दी थी जिसके बाद पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर परमहंस को जेल भेज दिया था.

20 दिन जेल में रहकर वापस लौटे संत परमहंस ने अब एक और प्रतिक्षा कर डाली है. उनका दावा है कि वो प्रयागराज कुंभ में बैल गाड़ी से जाएंगे और जब तक राम मंदिर नहीं बन जाता तब तक गंगा जल पीकर तपस्या करेंगे. फिलहाल रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि एक साधु, सन्यासी को इस तरह की हरकत नहीं करनी चाहिए, इसी हरकत की वजह से वो जेल भी जा चुके हैं.



प्रयागराज कुंभ मेला: एयर एंबुलेंस ठेके के खिलाफ याचिका खारिज

 
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...