• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • अयोध्या की धर्मसभा से मंदिर मुद्दा युवाओं को सौंपने में सफल रहा RSS

अयोध्या की धर्मसभा से मंदिर मुद्दा युवाओं को सौंपने में सफल रहा RSS

अयोध्या की धर्मसभा में जुटी युवाओं की भीड़

अयोध्या की धर्मसभा में जुटी युवाओं की भीड़

धर्मसभा में जिस तरह युवाओं की भीड़ जुटी और उनके उत्साह को देखकर संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी जरूर संतुष्ट हुए होंगे.

  • Share this:
    अयोध्या में रविवार को मंदिर निर्माण के लिए हुई विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की धर्मसभा से न कोई साफ़ संदेश ही गया और न खुलकर कानून बनाने की मांग ही दिखाई दी. हालांकि निशाने पर सुप्रीम कोर्ट और कांग्रेस पार्टी जरूर रही. लेकिन धर्मसभा ने आरएसएस के उस मकसद को पूरा कर दिया जिसके लिए पूरी रणनीति की रूपरेखा तैयार की गई थी. दरअसल तीन दशक से ज्यादा लंबे मंदिर आंदोलन को युवाओं के हाथों में सौंपने का मकसद जरूर पूरा होता दिखाई दिया.

    संघ की चिंता थी कि मंदिर आंदोलन को आगे ले जाने वाले हाथों को कैसे तैयार किया जाए? क्योंकि तीन दशक पहले जिन हाथों ने यह जिम्मा उठाया था वह अब प्रौढ़ावस्था में है. लिहाजा संघ यह आश्वस्त करना चाहता था कि इस आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए नई पीढ़ी आगे आए. धर्मसभा में जिस तरह युवाओं की भीड़ जुटी और उनके उत्साह को देखकर संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी जरूर संतुष्ट हुए होंगे.

    दरअसल युवा हिंदुस्तान की नई पौध ने कारसेवा और विवादित ढांचा गिराए जाने के किस्से को सिर्फ सुना और पढ़ा है. संघ की कोशिश थी कि इस धर्मसभा के माध्यम से ऐसे युवाओं के दिल और दिमाग में इस आंदोलन को बैठाने की थी. इसके लिए संघ ने सोशल मीडिया का भी सहारा लिया और आंदोलन की पूरी कहानी बताई. इस पूरी कवायद का असर रविवार को अयोध्या में दिखा जब धर्मसभा में बड़ी संख्या में 18 से 35 वर्ष की आयु के युवक दिखाई दिए.

    धर्मसभा में अधिक से अधिक युवाओं को लाने की जिम्मेदारी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और बज्रंग्त दल को सौंपी गई थी. उन्होंने इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया भी. धर्मसभा में युवाओं की टोलियां सबसे ज्यादा थी. सिर पर भगवा पट्टी और हाथों में भगवा ध्वज लिए जय श्रीराम का उद्घोष करती ये टोलियां यह बता रही थी कि धर्मसभा का एक मकसद तो पूरा हुआ.

    ये भी पढ़ें: 

    करीब 1 लाख लोग पहुंचे अयोध्या, 27 हज़ार कर चुके हैं रामलला दर्शन: एडीजी

    राम मंदिर के पक्ष में उतरीं मुस्लिम महिलाएं, बोली-कसम खुदा की खाते हैं मंदिर वहीं बनवाएंगे

    अयोध्या में राम मूर्ति पर बोले डिप्टी सीएम- लाॅलीपाॅप की नहीं गुलगुले खाने का इंतजार कीजिए

    VHP की धर्मसभा शुरू, चंपत राय बोले- 92 के बाद खत्म नहीं हुआ राम मंदिर मुद्दा, याद दिलाना जरूरी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज