Home /News /uttar-pradesh /

किसान बोले ‘हम नोएडा में गाय-भैंस कहां बांधे’, 1 सितम्बर को अथॉरिटी घेरेंगे 81 गांवों के किसान

किसान बोले ‘हम नोएडा में गाय-भैंस कहां बांधे’, 1 सितम्बर को अथॉरिटी घेरेंगे 81 गांवों के किसान

एक सितम्बर को 81 गांवों के किसान नोएडा अथॉरिटी का घेराव कर सकते हैं.

एक सितम्बर को 81 गांवों के किसान नोएडा अथॉरिटी का घेराव कर सकते हैं.

81 गांवों के किसानों (Farmer) ने एक सितम्बर को नोएडा अथॉरिटी घेरने और प्रदर्शन (Protest) करने का ऐलान किया है. प्रदर्शन की तैयारी के लिए आजकल किसान गांव-गांव में तैयारियां कर रहे हैं.

    नोएडा. 81 गांवों की सीमाएं नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) के अंडर में आती हैं. अथॉरिटी ही उन गांवों के विकास के लिए प्लान बनाती है. लेकिन अथॉरिटी के यही प्लान गांव वालों के लिए परेशानी बन गए हैं. गांव (Village) में रहने वाले किसानों का कहना है कि अगर हम अथॉरिटी के प्लान से चलें तो अपने गाय-भैंस कहां बांधे. गोबर से बने कंडे रखने के लिए बिटोड़े कहां बनाए. अपनी कुछ इसी तरह की मांग के चलते 81 गांवों के किसानों (Farmer) ने एक सितम्बर को नोएडा अथॉरिटी घेरने और प्रदर्शन (Protest) करने का ऐलान किया है. प्रदर्शन की तैयारी के लिए आजकल किसान गांव-गांव में तैयारियां कर रहे हैं.

    किसान बोले-सेक्टर का नक्शा गांव में नहीं चल सकता

    एक सितम्बर को नोएडा अथॉरिटी के सामने प्रदर्शन करने की तैयारियों में लगे किसानों का कहना है कि अथॉरिटी ने गांवों में भी नक्शा नीति लागू कर दी है. जबकि सेक्टर और गांव के रहन-सहन में खासा फर्क होता है. अगर गांव भी सेक्टर की तर्ज पर विकसित किए जाएंगे तो हम अपनी गाय-भैंस कहां बांधेंगे. बिटोड़ें कहां बनाएंगे. लेकिन अथॉरिटी गांवों को भी सेक्टर बनाने पर तुली हुई है.

    जमीन देने वाले किसान मांग रहे रोजगार

    नोएडा अथॉरिटी ने कई सारी योजनाओं के तहत किसानों की जमीन का अधिग्रहण किया है. हालांकि उसका मुआवजा भी किसानों को दिया है. लेकिन किसानों की मांग है कि अथॉरिटी ने उन्हें जहां प्लाट दिए हैं वहां कमर्शियल गतिविधि के लिए भी अनुमति दी जाए.

    क्योंकि उनकी खेती बाड़ी तो अथॉरिटी को जमीन देने के साथ ही खत्म हो गई. अब वो बेरोजगार हैं. उन्हें कोई रोजगार भी चाहिए. जबकि अथॉरिटी रेजीडेंशियल एरिया में कमर्शियल की अनुमति देने के लिए मोटी फीस मांग रही है. जिसे देना किसान के बस में नहीं है.

    नोएडा में नहीं है किसानों की आबादी

    प्रदर्शन की तैयारी में लगे किसानों का यह भी कहना है कि नोएडा अथॉरिटी के अंडर में 81 गांव आते हैं. लेकिन अथॉरिटी ने कागजों में किसानों की आबादी मानने से ही इंकार कर दिया है. किसानों की मांग है कि उनकी जमीन को किसानों की जमीन के नाम से अथॉरिटी में दर्ज किया जाए.

    आपके शहर से (नोएडा)

    नोएडा
    नोएडा

    Tags: Farmer, Noida Authority, Protest

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर