लाइव टीवी

UP: सिरफिरे ने 20 बच्चों को बनाया बंधक, एक बच्चे को छुड़ाया, NSG कमांडो बुलाए

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 31, 2020, 12:01 AM IST
UP: सिरफिरे ने 20 बच्चों को बनाया बंधक, एक बच्चे को छुड़ाया, NSG कमांडो बुलाए
आरोपी ने जन्‍मदिन के बहाने बच्‍चों को घर पर बुलाया था.

फर्रुखाबाद (Farrukhabad) के कसरिया गांव में सिरफिरे युवक ने करीब 20 बच्‍चों को बंधक बना लिया. युवक ने मोहल्ले के एक दर्जन से ज्यादा बच्चों को घर में कैद कर दिया. उसने पुलिस पर भी फायरिंग की. बच्चों को छुड़ाने के लिए एटीएस के कमांडो बुलाए गए हैं.

  • Share this:
फर्रुखाबाद. उत्तर प्रदेश (UP) के फर्रुखाबाद (Farrukhabad) में सिरफिरे युवक ने करीब 20 बच्‍चों को बंधक बना लिया. युवक ने मोहल्ले के एक दर्जन से ज्यादा बच्चों को घर में  कैद कर दिया. बताया जा रहा है कि उसने बर्थडे पार्टी के नाम पर बच्चों को घर पर बुलाया था. वह बंद घर की छत से लगातार फायरिंंग रहा है. वहीं, इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने आपात बैठक बुलाई है. आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने बताया कि बंधक बच्चों को छुड़ाने के लिए कमांडो बुलाए गए हैं. यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर पीवी रामा शास्‍त्री ने कहा, एटीएस की टीम घटना की जगह पर पहुंचने वाली है. हमने एनएसजी कमांडो की मांग की है. राज्‍य की पूरी मशीनरी इस मामले को देख रही है. इसे जल्‍द ही सुलझा लिया जाएगा.

ये मामला कोतवाली क्षेत्र मोहम्दाबाद के कसरिया ग्राम का है. फायरिंग में थाना प्रभारी समेत सिपाही घायल हुए हैं. फायरिंग से एक ग्रामीण के भी घायल होने की सूचना है. फर्रुखाबाद की घटना पर डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि हम बच्चों को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहते हैं. युवक ने 12 से 20 बच्चों को बंधक बनाया हुआ है. कमरे के अंदर से फायरिंग हो रही है. फायरिंग में दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. एनएसजी को भी सूचना दे दी गई है. बंधक बनाने वाला सजायाफ्ता है. उसने कम तीव्रता का बम भी बाहर फेंका है. एटीएस मौके पर पहुंच गयी है.



पुलिस बच्चों को छुड़ाने में नाकाम रही. बच्चों को छुड़ाने के लिए एटीएस का कमांडो दस्ता फर्रुखाबाद के लिए रवाना हो गया है. शख्स घर के अंदर से रुक-रुककर फायरिंग भी कर रहा है. घटनास्थल पर कमांडो कार्रवाई शुरू नहीं हुई है, क्योंकि अपराधी ने कई बच्चों को बंधक बनाया हुआ है. इस वक्त वहां अंधेरा है.


7 घंटे के बाद भी जिला प्रशासन नहीं खोज पाई हल, 10 महीने के बच्‍चे को छोड़ा
फर्रुखाबाद में जिला प्रशासन 7 घंटे बाद भी बच्चों का रेस्क्यू नहीं कर पाया. डीएम मानवेन्द्र सिंह समेत एसपी मामले का हल नहीं खोज कर पा रहे हैं. बच्चों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. प्रशासन सिरफिरे युवक के मित्रों के सहारे उससे बात कर रहे हैं. इस बीच उसने 10 महीने के एक बच्चे को बाहर भेज दिया है.

एक साल पहले ही आया था जमानत पर
पुलिस के अनुसार, फायरिंग करने वाले का नाम सुभाष बाथम है. उस पर आरोप है कि करीब दो साल पहले उसने अपने मौसा की हत्या कर दी थी. एक साल पहले वह जमानत पर छूटकर आया था. उसकी 10 साल की एक बेटी भी है. गुरुवार दोपहर उसने अपनी बेटी के जन्मदिन के बहाने गांव के बच्चों को घर बुलाया. बच्चे दोपहर 2:30 बजे घर पहुंचे. इसके बाद उसने घर अंदर से बंद कर लिया. करीब 4:30 बजे एक महिला अपने बच्चे को लेने के लिए सुभाष के घर पहुंची तो पता चला कि अंदर बच्चे बंद हैं. इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी गई.

पुलिस के अनुसार, फायरिंंग का आरोपी सुरेश जमानत पर बाहर है.


सीएम योगी बोले-बच्‍चों सुरक्षित छुड़ाना हमारी प्राथमिकता
बच्‍चों को बंधक बनाने की इस घटना पर सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने अधिकारियों को मौके पर भेजने के निर्देश दिए हैं. उन्‍होंने कहा है कि बच्चों को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए. बच्चो को बचाना हमारी पहली प्राथमिकता है.

यह भी पढ़ें...जामिया नगर फायरिंग पर शाह बोले- ऐसी घटना बर्दाश्‍त नहीं, सख्‍त कार्रवाई करेंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फर्रुखाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 9:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर