फर्रूखाबादः जेल भेजे गए पूर्व सपा विधायक विजय सिंह के दोनों आरोपी पुत्र

पूर्व सपा विधायक पुत्रों पर भाजपा नेता प्रांशु दत्त द्विवेदी व उसके समर्थक पर फायरिंग करने का आरोप लगा था, जिसके बाद से दोनों कानूनी दांव-पेंच के जरिए गिरफ्तारी से बचते रहे थे


Updated: April 24, 2018, 11:41 AM IST

Updated: April 24, 2018, 11:41 AM IST
सीजेएम कोर्ट द्वारा सोमवार को जमानत याचिका ख़ारिज करने बाद पूर्व सपा विधायक विजय सिंह के दोनों पुत्रों को जेल भेज दिया है. दरअसल, 6 माह पहले पूर्व सपा विधायक पुत्रों पर भाजपा नेता प्रांशु दत्त द्विवेदी व उसके समर्थक पर फायरिंग करने का आरोप लगा था, जिसके बाद से दोनों कानूनी दांव-पेंच के जरिए गिरफ्तारी से बचते रहे थे, लेकिन आज प्रभारी जिला जज ने उनकी जमानत याचिका ख़ारिज कर जेल भेज दिया.

रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार को दोनों आरोपियों ने प्रभारी सीजेएम योगेश कुमार के समक्ष आत्मसमर्पण किया, जहां से जमानत याचिका ख़ारिज होने के बाद उन्होंने प्रभारी जिला जज रविन्द्र नाथ दुबे के कोर्ट में आत्मसमर्पण किया, लेकिन दोपहर बाद जमानत पर हुई सुनवाई में प्रभारी जिला जज ने उनकी जमानत याचिका को ख़ारिज कर दिया.

गौरतलब है 26 नबम्वर, 2017 को भाजयुमो के पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रांशु दत्त द्विवेदी अपने अस्पताल के बाहर खड़े थे, जहां उनके साथ कर्मचारी मनिहारी नुक्कड़ निवासी सचिन पुत्र विजय मिश्रा भी खड़े थे. तभी अचानक की गई अंधाधुंध फायरिंग में भाग्यशाली रहे प्रांशु दत्त द्विवेदी बाल-बाल बच गए थे, लेकिन फायरिंग से निकली एक गोली उनके एक कर्मचारी सचिन के गोली लग गई थी.

मामले में पूर्व विधायक के दोनों पुत्र अविनाश व अभिषेक और 5-6 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. मामले में पूर्व सपा विधायक की पत्नी दमयन्ती सिंह ने भी पुलिस को तहरीर दी थी, लेकिन पुलिस ने उस पर संज्ञान नहीं लिया. हालांकि मामले में आरोपी पूर्व विधायक के पुत्रों ने अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ स्टे ले आए थे.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर