Assembly Banner 2021

फर्रुखाबाद मुठभेड़ या पुलिस ने जानकर मारी गोली

जबकि घायल का कहना है कि पुलिस मुझे घर से उठाकर एक चौराहे पर ले गई. कहा कि गाड़ी से उतरो. मैं जैसे ही गाड़ी से उतरा तो मेरे पैर में गोली मार दी.

  • Share this:
फर्रुखाबाद में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ की खबर है. पुलिस का कहना है कि इसमें एक सिपाही और बदमाश घायल हो गया है. घायल बदमाश को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जबकि घायल का कहना है कि पुलिस मुझे घर से उठाकर एक चौराहे पर ले गई. कहा कि गाड़ी से उतरो. मैं जैसे ही गाड़ी से उतरा तो मेरे पैर में गोली मार दी.

मामला मेरापुर थाना के गणेशपुर चौराहे का है. अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुबन सिंह ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक सुदीप मिश्रा और स्वाट टीम के साथ गणेशपुर चौराहे पर वाहन चेकिंग कर रहे थे.  उसी दौरान एक पिकअप आई. पुलिस के अनुसार जब उन्होंने उसे रोंकने के लिए कहा तो वह अचरा रोड की तरफ भाग खड़ा हुआ. पुलिस टीम ने जब उसका पीछा किया. तो उसने फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की. इसमें आरोपी बदमाश शमशेर बंजारा के पैर में गोली लग गई. साथ ही स्वाट टीम के सिपाही विनय सिंह भी घायल हो गए.

जबकि घायल शमशेर बंजारा ने मीडिया को बताया कि मैं फेरी लगाकर, चूड़ी बेचकर गुजारा करता हूं. पहले मैं चोरी के मुकदमे में जेल भी जा चुका हूं. बीती शाम 5 बजे मैं घर पर मौजूद था. उसी समय एसओजी टीम के साथ पुलिस की दो गाड़ी घर पहुंची. मुझे पकड़ कर संकिसा ले गए. वहां बिजली की रोशनी में क्रिकेट मैच हो रहा था. पुलिस क्रिकेट मैच देखने के बाद मुझे मेरापुर थाने ले गई और उसके बाद किसी चौराहे पर ले जाकर मुझे जीप से नीचे उतारा दिया. मेरे दोनों हाथ पीछे से बांध दिया गया. उसके बाद एसओजी के दरोगा ने रिवाल्वर या पिस्टल से पैर में गोली मारी. शमशेर बंजारा मैनपुरी के रिचपुरा कुराऊली के रहने वाला है.



बता दें कि इससे पहले नवाबगंज थाना क्षेत्र में दो बार पुलिस मुठभेड़ में तीन हत्यारोपी गोली लगने से घायल हो चुके हैं. सभी मुठभेड़ों में अपराधियों के पैरों में ही गोली लगती है. साथ ही सिपाही के बाजू में रगड़ती हुई गोली चली जाती है.
(सुर्या वाजपेयी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें -

फर्रुखाबाद : किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

फर्रुखाबाद: डकैती के बाद महिला की गला रेतकर हत्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज