फर्रुखाबाद: चचेरी बहन ने ही 4 साल के मासूम का कराया अपहरण, पुलिस ने 3 को पकड़ा

फर्रुखाबाद किडनैपिंग का हुआ खुलासा, बच्चा बरामद
फर्रुखाबाद किडनैपिंग का हुआ खुलासा, बच्चा बरामद

फर्रुखाबाद पुलिस (Farrukhabad Police) ने 4 साल के मासूम के अपहरण की घटना का खुलासा कर दिया है. पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद करते हुए उसकी चचेरी बहन नीतू, उनके पति और दोस्त को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
फर्रुखाबाद. उत्तर प्रदेश की फर्रुखाबाद पुलिस (Farrukhabad) को 4 साल के मासूम अभि के अपहरण (Kidnapping) में बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने मासूम को बरामद कर आरोपी चचेरी बहन, उसके प्रेमी और दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है. बेटे को गोद में पाकर परिजनों की आंखों में आंसू आ गए. पुलिस लाइन सभागार में पुलिस अधीक्षक डॉ अनिल कुमार मिश्रा ने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

दरअसल, कोतवाली फतेहगढ़ के नगला नैन निवासी पूर्व सैनिक चरन सिंह का 4 वर्षीय पुत्र अभि का अपहरण बीती आधी रात को हो गया था. पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए अभि को एटा से बरामद कर लिया. दरअसल, चरन सिंह का एक मोबाइल भी गायब था. पुलिस ने उसके सर्विलांस की मदद से अभि की चचेरी बहन नीतू पुत्री रघुवीर निवासी धुमरी जैथरा, एटा को चरन सिंह के घर से उठा लिया. सीसीटीवी से मिले अहम सुराग और मोबाइल की लोकेशन आने के बाद पुलिस ने नीतू से पूछताछ की. इस दौरान नीतू टूट गई और उसने जो पुलिस को बयान दिया तो सभी सकते में आ गए.

बहन नीतू ने ही अपनी प्रेमी को सौंपा मासूम
नीतू ने पुलिस को बताया कि उसने अपने प्रेमी सार्थक उर्फ रामू यादव पुत्र वीरपाल सिंह निवासी सरमनपुर बागवाला, एटा व उसके दोस्त जय किशन उर्फ जानू पुत्र उमर सैन निवासी कोडरा, फिरोजाबाद की मदद से अपहरण की घटना को अंजाम दिया. जब घर में सब सो गए तो अभि को उठाकर उसने सार्थक और उसके दोस्त जानू के हवाले कर दिया.
नीतू की निशानदेही पर बच्चा बरामद


इसके बाद नीतू को लेकर पुलिस की टीम के साथ उपनिरीक्षक सीमा पटेल, स्वेता पवार एटा सार्थक के पास पंहुचे. यहां उन्होंने अभि को बरामद कर लिया. पता चला कि दवा लेने के बहाने नीतू अभि के घर रुकी थी.

प्रेम विवाह के विरोध के चलते उठाया कदम
पता चला कि नीतू ने सार्थक के साथ प्रेम विवाह किया था, जिसका अभि के पिता चरन सिंह विरोध करते थे. इसी का बदला लेने नीतू अभि के घर अपने पति सार्थक के साथ पहुंची और दवा लेने के लिए रुकने की बात कही. यहां से उसने योजनानुसार सार्थक को वापस भेज दिया. देर रात नीतू का पति सार्थक अपने साथी जय के साथ वापस आया और अभि का अपहरण कर लिया. पता चला कि पुलिस यदि उन्हें गिरफ्तार नही करती तो गुरुवार शाम को आरोपी सार्थक फिरौती की मांग करने वाला था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज