फर्रुखाबाद: 40 घंटे से बोरवेल में जिंदगी के लिए संघर्ष कर रही मासूम सीमा, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

दरअसल बलुई मिटटी होने की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही है. गुरुवार को रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान मिट्टी धंसने से सेना के दो जवान घायल हो गए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 5, 2019, 8:34 AM IST
फर्रुखाबाद: 40 घंटे से बोरवेल में जिंदगी के लिए संघर्ष कर रही मासूम सीमा, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
तीसरे दिन भी रेस्क्यू ओपेर्तैओन जारी है
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 5, 2019, 8:34 AM IST
फर्रुखाबाद के कमालगंज थाना क्षेत्र के गांव रसीदपुर में बुधवार को बोरेवेल के गड्ढे में गिरी पांच साल की बच्ची सीमा को दूसरे दिन भी बाहर नहीं निकाला जा सका है. वह 40 घंटे से अधिक समय से जिंदगी के लिए संघर्ष कर रही है. सेना, एनडीआरएफ सहित आपदा प्रबंधन की टीमों का अभियान शुक्रवार को तीसरे दिन भी जारी है.

दरअसल बलुई मिटटी होने की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही है. गुरुवार को रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान मिट्टी धंसने से सेना के दो जवान घायल हो गए. जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन को रोक दिया गया था. फिर डीएम मोनिका रानी ने मंडलायुक्त से बात कर एनडीआरएफ की टीम लखनऊ से बुलाई. 15 सदस्यीय टीम के पहुंचते ही पाइप के बीच में रस्सी डालकर बालिका के सिर के ऊपर दिख रहे दोनों हाथ में फंदा लगाकर निकालने का प्रयास शुरू किया गया, लेकिन इसे बीच में ही रोक दिया गया.

कमालगंज क्षेत्र के गांव रसीदपुर निवासी स्व नरेश चंद्र की 5 साल की बेटी सीमा दोपहर ढाई बजे अन्य बच्चों के साथ घर से कुछ दूरी पर बच्चों के साथ खेल रही थी. इसी दौरान वह बोरवेल में गिर गई. बच्ची की चीख सुनकर पड़ोसी रामदुलने मौके पर पहुंचे. जिसके बाद उन्होंने शोर मचाया तो अन्य लोग भी पहुंच गए. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने उच्च अधिकारीयों को सूचना दी. मौके पर पहुंचे जिला प्रशासन और डॉक्टरों की टीम ने रेस्क्यू शुरू किया.

बच्ची सीमा 45 फीट के पास फंसी हुई है. डॉक्टरों के मुताबिक सीमा को ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही है. उसका मूवमेंट भी देखा जा रहा है. सेना के मुताबिक अगले एक से डेढ़ घंटे में रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा हो जाएगा. मौके पर डॉक्टरों की एक पूरी टीम मौजूद है. सभी लोग सीमा के सकुशल बाहर निकलने के लिए दुआ भी कर रहे हैं.

(इनपुट: सूर्या वाजपेयी)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
First published: April 5, 2019, 8:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...