फर्रुखाबाद में बंद हुआ 'ऑपरेशन' असीम, गहरे बोरवेल में दफन हो गई मासूम

ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी करते हुए रेस्क्यू ऑपरेशन बीच में बंद करने को प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. उन्होंने बच्ची जिंदा या मुर्दा निकालने के साथ मुआवजे की मांग करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 6, 2019, 5:03 PM IST
फर्रुखाबाद में बंद हुआ 'ऑपरेशन' असीम, गहरे बोरवेल में दफन हो गई मासूम
प्रदर्शन करते ग्रामीण
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 6, 2019, 5:03 PM IST
यूपी में फर्रुखाबाद जिले में मंगलवार को खेलते समय 6 साल की बच्ची 60 फीट गहरे बोरवेल में गिर गई थी. लेकिन 58 घंटे की कड़ी मेहनत के बाद लगातार मिट्टी धंसने से परेशान होकर शुक्रवार देर रात बचाव कार्य बंद किया गया है. वहीं एनडीआरएफ,एसडीआरएफ और सेना द्वारा बचाव कार्य में लगे होने के बावजूद 'ऑपरेशन असीम विफल होने के पीछे प्रशासन की नकामी साफ तौर पर देखने को मिली है.

कागजी प्रकिया पूरी करने के बाद सेना, एनडीआरफ, एसडीआरफ वापस चली गई. साथ ही खोदे गए गड्ढे को बंद करने का काम शुरू कर दिया गया है. ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी करते हुए रेस्क्यू ऑपरेशन बीच में बंद करने को प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. उन्होंने बच्ची जिंदा या मुर्दा निकालने के साथ मुआवजे की मांग करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया. इस दौरान संजीवनी देवी ने कहा कि हमें अपने ही घर से प्रशासन के लोगों ने सुबह से निकाल दिया था. खुदाई के कारण घरों की दीवारों पर दरारें भी आ गई है और बच्ची को भी नहीं निकाल रहे हैं.

उन्होंने आरोप लगाया कि लेखपाल व प्रधान जबरदस्ती लिखवा रहे हैं कि हम अपनी मर्जी से खुदवाई को रूकवा रहे हैं, जबकि हमारा कहना है कि भले ही हमारे घर टूट जाए लेकिन बच्ची को अब जिंदा या मुर्दा निकाला जाए. इसके अलावा ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बच्ची सीमा के चाचा सुरेंद्र को प्रशासन के अधिकारियों के साथ प्रधान हरिशचंद्र दबाव बनाकर हस्ताक्षर कराने के लिए घर से उठा ले गया है.

क्या था मामला:

कमालगंज क्षेत्र के गांव रसीदपुर निवासी स्व नरेश चंद्र की 5 साल की बेटी सीमा दोपहर ढाई बजे अन्य बच्चों के साथ घर से कुछ दूरी पर बच्चों के साथ खेल रही थी. इसी दौरान वह बोरवेल में गिर गई. बच्ची की चीख सुनकर पड़ोसी रामदुलने मौके पर पहुंचे. जिसके बाद उन्होंने शोर मचाया तो अन्य लोग भी पहुंच गए. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने उच्च अधिकारीयों को सूचना दी. मौके पर पहुंचे जिला प्रशासन और डॉक्टरों की टीम ने रेस्क्यू शुरू किया था.

(रिपोर्ट: सूर्या वाजपेयी)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फर्रुखाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2019, 5:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...