आर्थिक तंगी से जूझ रहे बंदी रक्षक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
Farrukhabad News in Hindi

आर्थिक तंगी से जूझ रहे बंदी रक्षक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
बंदी रक्षक ने की आत्महत्या

मथुरा जिला निवासी बंदी रक्षक रीतराम की पिछले कई वर्षों से जिला जेल में पोस्टिंग थी. सूत्रों के अनुसार, रीतराम शराब का लती था और पिछले कई दिनों से अधिक शराब पीने के कारण आर्थिक तंगी से जूझ रहा था.

  • Share this:
फर्रुखाबाद जनपद में जिला जेल में तैनात एक बंदी रक्षक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उसके पास मिले सुसाइड नोट में आर्थिक व मानसिक स्थिति ठीक न होने के कारण खुदकुशी करने की बात कही गई है. सूचना पर पहुंच फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल की जांच कर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

मूल रूप से मथुरा जिला निवासी बंदी रक्षक रीतराम की पिछले कई वर्षों से जिला जेल में पोस्टिंग थी. जेल परिसर के बाहर बने सरकारी आवास में वह अकेले ही रहते थे. उनका परिवार मथुरा में रहता था. सूत्रों के अनुसार, रीतराम शराब का लती था और पिछले कई दिनों से अधिक शराब पीने के कारण आर्थिक तंगी से जूझ रहा था.

जानकारी के अनुसार, मंगलवार देर रात रीतराम ने सुसाइड नोट लिखकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बुधवार सुबह पड़ोसी ने खिड़की से उसकी लाश फंदे से लटकी देखकर पुलिस को सूचना दी. जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया.आनन-फानन में फोरेंसिक टीम व पुलिस मौके पर पहुंची, जहां उसका शव किचन में मफलर के सहारे लटका मिला.



इसके बाद रीतराम के परिजनों को घटना से अवगत कराते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. टीम को मौके पर सुसाइड नोट मिला है, जिस पर लिखा हुआ है कि मैं बहुत ही आर्थिक व मानसिक स्थिति से परेशान था और फतेहगढ़ जेल में अधिकारी व सहकर्मियों का पूरा सहयोग मिलता. (रिपोर्ट-सूर्या बाजपेई) 
ये भी पढ़ें: थाने में युवक ने फांसी लगाकर की सुसाइड, पूछताछ के लिए लाई थी पुलिस

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading