छेड़खानी के आरोपों से बचने के लिए बिजली विभाग ने की महिलाओं की तैनाती

इस बार बिजली चेकिंग के लिए 34 महिलाओं को लगाया गया है जो 11 टीमों में अलग-अलग मोहल्लों में जाकर बिजली चेकिंग कर रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 24, 2018, 10:00 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 24, 2018, 10:00 PM IST
फर्रुखाबाद में बिजली चोरी की पड़ताल के लिए गए विभाग की टीम को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता था. जिसमें एक है छेड़खानी के आरोप. बिजली विभाग के लोग बिजली चोरी पकड़ लेते तो घर की महिलाएं उनके खिलाफ छेड़छाड़ का आरोप लगा देती. इससे निपटने के लिए बिजली विभाग ने अब महिलाओं की तैनाती की है.

इस बार बिजली चेकिंग के लिए 34 महिलाओं को लगाया गया है जो 11 टीमों में अलग-अलग मोहल्लों में जाकर बिजली चेकिंग कर रही है. अब किसी के पास यह बहाना नहीं बचता कि घर पर कोई पुरुष नहीं है. जो महिलाएं चेकिंग कर रही हैं वह घर पर महिला होने पर भी आसानी से घर के अंदर जाकर बिजली चोरी पकड़ लेती हैं. दूसरी तरफ बिजली कर्मचारी छेड़छाड़ के मुकदमे से भी बच जाते है. इस तरह से बिजली के राजस्व बसूली में भी बढ़ोत्तरी होगी.

विपक्ष पर उप मुख्यमंत्री ने कसा तंज, कहा- अवसरवादियों को जनता जानती है

बिजली विभाग के कर्मचारियों पर फतेहगढ़ कोतवाली में एक वर्ष में लगभग दो दर्जन मुकदमें दर्ज कराने के लिए तहरीर दी गई थी. वही सदर कोतवाली में 34 तहरीर दी गई थी. मऊदरवाजा थाने में 42 तहरीर जिनमें चार पर एनसीआर दर्ज की गई थी लेकिन जांच में फर्जी पाई गई थी. उसी से बचने के लिए बिजली विभाग ने नया फंडा अपनाया है. जिससे बिजली चोरी करने वाले नहीं बच सकेंगे.

राफेल डील पर गृह मंत्री की सफाई, कहा- विपक्ष के पास नहीं है कोई मुद्दा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...